दुनिया

Russia Ukraine War : रूस को यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की का जवाब, हम झुकेंगे नहीं, लड़ेंगे

Janjwar Desk
24 Feb 2022 10:35 AM GMT
Russia Ukraine War : रूस को यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की का जवाब, हम झुकेंगे नहीं, लड़ेंगे
x
Russia Ukraine War : यूक्रेन के विदेश मंत्री ने कहा है कि हमने रूस लड़ने और उसे हराने की कसम खाई।

Russia Ukraine War : अपने देश पर रूसी हमले के ऐलान के कुछ घंटे बाद यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ( Volodymyr Zelensky's ) अंतरराष्ट्रीय मीडिया के सामने आये और कहा कि हम रूस के सामने सरेंडर नहीं करेंगे। रूस के सामने नहीं झुकने का सवाल ही नहीं है। उन्होंने कहा कि हम अपनी क्षमता के अनुरूप रूस को मुंहतोड़ जवाब देंगे। हम एकजुट हैं और डटकर मुकाबला करेंगे। यूक्रेन के विदेश मंत्री ने कहा है कि हमने रूस लड़ने और उसे हराने की कसम खाई है।

दूसरी तरफ यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय की तरफ से ताजा बयान में कहा गया है कि उन्होंने रूस के छह प्लेन मार गिराए हैं। इसके अलावा 50 रूसी सैनिक मारे गए हैं और 2 टैंक भी नष्ट किए गए हैं। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक यूक्रेन माना है कि रूस की गोलीबारी में कम से कम सात लोग मारे गए हैं और नौ घायल हो गए हैं। ताजा अपडेट के मुताबिक रूसी सेना के हमले में यूक्रेन के 40 जवान मारे गए हैं।

भारत से अहम भूमिका निभाने की अपील

इससे पहले रूसी हमले की शुरुआत यूक्रेन के अलग-अलग हिस्सों में धमाके से हुई। हमले के बाद यूक्रेन मे दूसरे देशों के साथ-साथ पीएम मोदी से भी मदद मांगी है। भारत में यूक्रेन के राजदूत ने कहा है कि भारत को संकट की स्थिति में सामने आने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भारत एक मजबूत राष्ट्र हौर पीएम मोदी की दुनिया के नेता सुनते हैं। उन्हें चाहिए कि युद्ध को रोकने के लिए जरूरी कदम उठाए। दुनिया के प्रमुख राष्ट्रों से एक होने की वजह से इंडिया संकट के दौर में प्रभावी भूमिका निभाने की जिम्मेदारी है।

दूसरी तरफ अमेरिका ने रूस को चेताया है तो चीन ने इस मामले को शांति से सुलझाने की गुजारिश की है। बता दें कि दुनिया 70 से ज्यादा देश यूक्रेन के समर्थन में आ गए हैं।

लातविया पहुंची अमेरिका

यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद नाटो देशों ने रूस के खिलाफ कार्रवाई की पहल शुरू कर दी है। नाटो ने कहा है कि वो सहयोगी देशों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। नाटो की ओर कहा गया है कि उसके सदस्य देशों से किसी पर हमला नाटों पर हमला माना जाता है। अब नाटो के सभी देश मिलकर रूस के खिलाज्ञफ कार्रवाई करेंगे। वहीं अमेरिका ने अपनी सेना को यूक्रेन की तरफ रवाना कर दिया है। अमेरिकी सेना रूस को घेरने के लिए लातविया पहुंच चुकी है। अमेरिका रूस की सेना को पीछे धकेलने के लिए अपने अभियान शुरू कर सकती है।

Next Story

विविध