दुनिया

Russia-Ukraine War : ये क्या, यूक्रेन को कंट्रोल में लेने की सनक में पुतिन रूसी नागरिकों का भी कर रहे हैं दमन!

Janjwar Desk
27 Feb 2022 11:50 AM GMT
Russia-Ukraine War : ये क्या, यूक्रेन को कंट्रोल में लेने की सनक में पुतिन रूसी नागरिकों का भी कर रहे हैं दमन!
x

पुतिन यूक्रेन को अपने कंट्रोल में लेने की सनक में रूसी नागरिकों का भी कर रहे हैं दमन!

Russia-Ukraine War : पुतिन दुनिया की नजरों में विलेन बनकर उभरे हैं। उनके इस फैसले की चारों तरफ तीखी आलोचना हो रही है। सवाल यह उठ रहा है कि पुतिन पूरी दुनिया को तीसरे विश्व युद्ध की आग में क्यों झोंकने पर उतारू हैं।

Russia-Ukraine War : रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ( Vladimir Putin ) ने गुरुवार को यूक्रेन ( Ukraine ) के खिलाफ युद्ध ( War ) का एकतरफा ऐलान किया था। इस ऐलान के बाद, भले ही रूसी सैनिकों के जवान यूक्रेन की राजधानी कीव के करीब तक पहुंच गई है, लेकिन दूसरा सच यह भी है कि पुतिन खुद दुनिया की नजरों में विलेन बनकर उभरे हैं। पुलिस के इस फैसले की चारों तरफ तीखी आलोचना हो रही है। सवाल यह उठ रहा है कि पुतिन पूरी दुनिया को तीसरे विश्व युद्ध ( Third world War ) की आग में क्यों झोंकने पर उतारू हैं।

चौंकाने वाली बात यह है कि अब तो वो रूसी नागरिकों का भी दमन करने पर उतारू हो गए हैं। पिछले तीन दिनों में यूक्रेन पर हमला करने के विरोध में रूस भर में प्रदर्शन जारी है। तीन दिनों में 3 हजार से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही लाठी चार्ज और आंसू गैस भी प्रदर्शनकारियों पर छोड़े जा रहे हैं। यूक्रेन पर हो रहे हमले के विरोध प्रदर्शनों पर उन्होंने प्रतिबंधित घोषित कर दिया है। ताजा आदेश में कहा गया है कि विरोध प्रदर्शन में शामिल लोग सजा के हकदार होंगे। इसके बावजूद प्रदर्शन रूस में अलग-अलग शहरों में जारी है।

हकीकत यह है कि रूस में हजारों की संख्या में लोग यूक्रेन के खिलाफ कार्रवाई का विरोध कर रहे हैं। रूस में युद्ध विरोधी प्रदर्शनों में हिस्सा लेने पर 3000 से ज्यादा प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। विरोध प्रदर्शन पर नजर रखने वाली एक निगरानी समूह 'OVD-Info Monitor' ने ट्वीट कर बताया है कि पिछले तीन दिनों में, पूरे रूस से युद्ध-विरोधी विरोध प्रदर्शनों में हिस्सा लेने पर कम से कम 3093 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। रूस की पुलिस ने 24 फरवरी को कम से कम 1967, 25 फरवरी को 634 और 26 फरवरी को 492 लोगों को हिरासत में लिया। निगरानी समूह ने बताया है कि 52 रूसी शहरों में 25 फरवरी को 1,700 से अधिक गिरफ्तार किए गए थे। डीडब्लू न्यूज ने भी इसकी पुष्टि करते हुए एक वीडियो भी जारी किया है।

पुतिन के इस फैसले के खिलाफ हजारों लोगों ने पुलिस के निर्देशों को दरकिनार करते हुए गुरुवार को राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा घोषित सैन्य अभियानों के विरोध में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन का दायरा अब बढ़ गया है। प्रदर्शनकारियों ने अमेरिका में व्हाइट हाउस के बाहर एकत्र होकर भी रैली की और उसके बाद पूरे दिन रूसी दूतावास के बाहर घंटों प्रदर्शन हुए।

प्रदर्शनकारियों को व्हाइट हाउस ने बताया साहसी

Russia-Ukraine War : व्हाइट हाउस के बार रूसी नागरिकों के प्रदर्शन के बाद प्रेस सचिव जेन साकी ने कहा कि राष्ट्रपति पुतिन और उनके युद्ध के खिलाफ सार्वजनिक रूप से विरोध करना एक बहुत ही साहसी कार्य है। लोगों के इस प्रदर्शन से दुनिया को पता चलता है कि यूक्रेन में वह ( Putin ) जो कर रहे हैं, उससे ऐसे रूसी भी हैं जो पूरी तरह असहमत हैं। प्रदर्शनकारी यूक्रेन पर हमले का विरोध कर रहें हैं।

Next Story

विविध