बिहार चुनाव 2020

बिहार चुनाव: तेजस्वी, तेजप्रताप, चंद्रिका सहित दो मंत्रियों की किस्मत आज ईवीएम में हो जाएगी कैद

Janjwar Desk
3 Nov 2020 4:07 AM GMT
बिहार चुनाव: तेजस्वी, तेजप्रताप, चंद्रिका सहित दो मंत्रियों की किस्मत आज ईवीएम में हो जाएगी कैद
x
महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव की सीट राघोपुर में भी आज ही मतदान हो रहा है, वहीं तेजप्रताप यादव हसनपुर, बिहार सरकार के मंत्री श्रवण कुमार नीतीश कुमार के गृह जिला के नालंदा विधानसभा सीट और लालू प्रसाद के गृह जिला गोपालगंज के हथुआ विधानसभा सीट पर मंत्री रामसेवक सिंह मैदान में हैं....

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार विधानसभा चुनावों के लिए दूसरे चरण का मतदान आज हो रहा है। इस चरण में कई बड़े चेहरों की किस्मत का फैसला हो जाएगा। महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव की सीट राघोपुर में भी आज ही मतदान हो रहा है।

वहीं बिहार सरकार के मंत्री श्रवण कुमार नीतीश कुमार के गृह जिला के नालंदा विधानसभा सीट और लालू प्रसाद के गृह जिला गोपालगंज के हथुआ विधानसभा सीट पर मंत्री रामसेवक सिंह मैदान में हैं। इसके अलावा पूर्व केंद्रीय मंत्री अली अशरफ फातमी के पुत्र फर्ज फातमी की किस्मत का भी फैसला इस चरण में हो जाएगा। फातमी राजद से विधायक थे, पर चुनाव के ऐन पहले जदयू में शामिल हो गए थे।

आज ही तेजस्वी यादव के बड़े भाई तेज प्रताप यादव की विधानसभा सीट हसनपुर में भी मतदान हो रहा है, वहीं उनके ससुर चंद्रिका यादव की सीट परसा में भी आज ही वोट डाले जा रहे हैं। वैसे चंद्रिका यादव इस बार राजद में नहीं हैं, बल्कि वे जदयू की ओर से प्रत्याशी बनाए गए हैं। तेजप्रताप यादव पिछली बार महुआ विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़े थे। इस बार उन्होंने सीट बदल ली है।

तेजस्वी यादव के विरुद्ध राघोपुर में बीजेपी की ओर से सतीश राय और लोजपा की ओर से पार्टी के आईटी सेल के प्रदेश अध्यक्ष राकेश रौशन मैदान में हैं। वहीं परसा सीट पर चंद्रिका राय के विरुद्ध राजद की ओर से छोटेलाल राय मैदान में हैं। छोटेलाल राय पिछली बार एनडीए की ओर से मैदान में थे।

परसा से इस बार भी दोनों पुराने चेहरे ही मैदान में हैं, पर पार्टियां बदल गईं हैं। इस सीट पर छोटेलाल राय साल 2005 और 2010 में दो बार जदयू के टिकट पर चुनाव जीत चुके हैं। पिछली दफा साल 2015 में वे चंद्रिका राय से हार गए थे। इस बार राजद और जदयू दोनों के लिए यह सीट प्रतिष्ठा की सीट बन गई है। तेजप्रताप और ऐश्वर्या की शादी सफल नहीं होने के बाद दोनों परिवारों के बीच विवाद चल रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस सीट पर प्रचार कर रहे हैं, वहीं ऐश्वर्या ने भी अपने पिता के लिए रोड शो किया है।

बात अगर तेजप्रताप यादव के हसनपुर सीट की करें, तो इस सीट पर तेज प्रताप के सामने जेडीयू की ओर से राजकुमार राय हैं। वे पिछली दफा यानि साल 2015 में चुनाव जीते थे, यानि वे यहां से सिटिंग विधायक हैं।

Next Story

विविध

Share it