Top
बिहार चुनाव 2020

चिराग का बीजेपी पर वार, अगर लोजपा वोटकटवा तो 2014 और 2019 का लोकसभा चुनाव साथ क्यों लड़े

Janjwar Desk
17 Oct 2020 10:04 AM GMT
चिराग का बीजेपी पर वार, अगर लोजपा वोटकटवा तो 2014 और 2019 का लोकसभा चुनाव साथ क्यों लड़े
x

File photo

चिराग ने साफ शब्दों में कहा कि अगर उनकी पार्टी एलजेपी वोट कटवा है तो आखिर किस कारण बीजेपी ने 2014 से उनको एनडीए में रखा है, अगर नीतीश कुमार फिर से सीएम बनते हैं तो वे विपक्ष में बैठना पसंद करेंगे....

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार चुनाव में लोजपा ने अलग राह पकड़ ली है। उसके बाद जदयू और बीजेपी के नेता उसपर आक्रामक हो रहे हैं। इसे लेकर अब लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए बीजेपी पर करारा हमला किया है।

चिराग ने साफ शब्दों में कहा कि अगर उनकी पार्टी एलजेपी वोट कटवा है तो आखिर किस कारण बीजेपी ने 2014 से उनको एनडीए में रखा है। उन्होंने एक बार फिर नीतीश कुमार पर भी सीधा हमला बोला है और कह दिया है कि अगर नीतीश कुमार फिर से सीएम बनते हैं तो वे विपक्ष में बैठना पसंद करेंगे।

उल्लेखनीय है कि बीते दो दिनों में बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर तथा बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने लोजपा के साथ पार्टी की कोई अंदरूनी डील नहीं होने की बात कही है। साथ ही दोनों नेताओं ने लोजपा को वोटकटवा भी कह दिया। सुशील मोदी ने तो यहां तक कह दिया था कि चुनाव में बीजेपी को दो सीट भी नहीं मिलने वाली। इसे लेकर ही चिराग पासवान ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा था कि बिहार में हमारी कोई बी या सी टीम नहीं है। सिर्फ बीजेपी, जदयू, वीआईपी और हम पार्टी ही बिहार में एनडीए गठबंधन का हिस्सा है और यही एनडीए है। लोजपा बिहार में सिर्फ वोटकटवा बनकर रह जाएगी।

हालांकि चिराग पासवान ने पहले कहा था कि उनकी पार्टी सिर्फ वहीं से उम्मीदवार उतारेगी, जहां से जदयू के प्रत्याशी खड़े होंगे, पर लोजपा द्वारा कई ऐसी विधानसभा सीटों पर भी प्रत्याशी घोषित कर दिए गए हैं, जहां एनडीए गठबंधन की ओर से बीजेपी के उम्मीदवार खड़े हैं।

चिराग ने कहा कि अगर उनकी पार्टी वोटकटवा है तो साल 2014 और 2019 का चुनाव बीजेपी ने क्यों साथ में लड़ा। इसका जबाव बीजेपी के नेताओं को देना चाहिए। बीजेपी नेता बयान देने में अपना दिमाग का इस्तेमाल करें। नीतीश कुमार के दवाब में आकर बयान नहीं दें।

उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में 143 सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला खुद उनके पापा रामविलास पासवान ने ही किया था। पापा के फैसले का सम्मान करते हुए इस पर मैंने काम किया। चिराग ने कहा कि नीतीश कुमार कई बाद मेरे पापा का अपमान कर चुके हैं। इसका जवाब बिहार की जनता उनको चुनाव में देगी।

Next Story

विविध

Share it