Top
बिहार चुनाव 2020

चिराग का वार, नीतीश ने कुर्सी के खेल में बर्बाद किए 5 साल, लोजपा को मिलेंगी जदयू से ज्यादा सीटें

Janjwar Desk
19 Oct 2020 7:14 AM GMT
चिराग का वार, नीतीश ने कुर्सी के खेल में बर्बाद किए 5 साल, लोजपा को मिलेंगी जदयू से ज्यादा सीटें
x

File photo

चिराग ने कहा 'नीतीश कुमार के पिछले 5 साल के कार्यकाल को देख कर आने वाले 5 साल की कल्पना की जा सकती है, बिहार को अगर इस बेबसी से निकलना है तो ज़रूरत है कड़े कदम उठाने की, जे॰डी॰यू॰ को दिया गया एक भी वोट कल बिहार को बर्बाद कर देगा...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने एक बार फिर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जदयू पर सीधा निशाना साधा है। चिराग ने कहा कि नीतीश कुमार ने सिर्फ कुर्सी के खेल में पिछला 5 साल बर्बाद कर दिया। उन्होंने दावा किया है कि बिहार चुनाव में लोजपा को जदयू से ज्यादा सीटें मिलेंगी और 10 नवंबर को राज्य में बीजेपी और लोजपा की सरकार बनेगी।

चिराग पासवान हालांकि अभी अपने पिता रामविलास पासवान के निधन के बाद पारंपरिक कर्तव्यों को निभा रहे हैं और उन्होंने कहा है कि 21 अक्टूबर से वे चुनाव प्रचार के लिए मैदान में उतरेंगे।

चिराग ने कहा 'नीतीश कुमार के पिछले 5 साल के कार्यकाल को देख कर आने वाले 5 साल की कल्पना की जा सकती है।बिहार को अगर इस बेबसी से निकलना है तो ज़रूरत है कड़े कदम उठाने की। जे॰डी॰यू॰ को दिया गया एक भी वोट कल बिहार को बर्बाद कर देगा।'

नीतीश कुमार के सात निश्चय योजना पर चिराग पासवान लगातार आक्रामक रहे हैं और वे अपने 'बिहार फर्स्ट-बिहारी फर्स्ट' कार्यक्रम को लेकर आगे बढ़ने की बात करते हैं। एक बार फिर उन्होंने सात निश्चय योजना पर निशाना साधा है।चिराग ने कहा 'कोई भी विधायक मंत्री या खुद नीतीश कुमार जी वोट माँगने आएं तो पूछिए कि पिछले 5 साल में क्या किया है। नीतीश कुमार जी से पूछिए की सात निश्चय में कौन कौन से वादे पूरे किए गए।'

उन्होंने कहा कि पिछले 5 साल के कार्यकाल पर कुछ नहीं बोलना एक फ़रेब है। बिहार की जनता को जानबूझ कर पिछले 5 साल के कार्यों को नहीं बताया जा रहा है।सिर्फ़ कुर्सी के खेल में पिछले 5 साल साहब ने बिहारीयों के बर्बाद किए।

चिराग ने दावा किया कि बिहार में जेडीयू से ज़्यादा सीटें लोजपा जीतेगी। बिहार में अफसरशाही के मुद्दे को लेकर उन्होंने निशाना साधते हुए कहा 'पिछले 5 साल में बिहार में अफ़सरों का राज रहा है।सात निश्चय में कोई भी निश्चय पूरा नहीं हुआ।पिछले 5 साल में हुए कार्यों का ब्योरा नीतीश कुमार को देना चाहिए।'

Next Story
Share it