बिहार चुनाव 2020

तमाम कयासों के बीच सुशील मोदी चुने गए बीजेपी विधायक दल के नेता, फिर से बन सकते हैं उपमुख्यमंत्री

Janjwar Desk
15 Nov 2020 8:34 AM GMT
तमाम कयासों के बीच सुशील मोदी चुने गए बीजेपी विधायक दल के नेता, फिर से बन सकते हैं उपमुख्यमंत्री
x

File photo

सीएम हाउस में आज अहम बैठक में नीतीश कुमार को एनडीए विधायक दल का नेता और सुशील मोदी को बीजेपी विधायक दल का नेता चुना गया..

जनज्वार ब्यूरो, पटना। सुशील कुमार मोदी एक बार फिर बिहार के उपमुख्यमंत्री बनेंगे। तमाम कयासों के बीच उन्हें बीजेपी विधानमंडल दल का नेता चुन लिया गया है। आज सीएम हाउस में आयोजित इस बैठक में नीतीश कुमार को बिहार में एनडीए विधायक दल का नेता चुन लिया गया है। इसके साथ ही उनके फिर से मुख्यमंत्री बनना तय हो गया है। सीएम हाउस में आज एनडीए की अहम बैठक में उन्हें एनडीए विधायक दल का नेता और सुशील मोदी को बीजेपी विधायक दल का नेता चुना गया।

हालांकि सुशील मोदी को डिप्टी सीएम बनाए जाने की औपचारिक घोषणा नहीं की गई है, पर जो पार्टी विधानमंडल दल का नेता चुना जाता है, वही अबतक डिप्टी सीएम बनता रहा है। इसलिए कहा जा सकता है कि डिप्टी सीएम के पद पर सुशील मोदी के एक बार फिर से ताजपोशी की महज औपचारिकता ही शेष है।

एनडीए की इस बैठक में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, जो बीजेपी की ओर से विधायक दल की बैठक के लिए पर्यवेक्षक बनाए गए हैं और देवेंद्र फडणवीस, जो बीजेपी के चुनाव प्रभारी थे,भी मौजूद थे।

16 नवंबर को नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री और सुशील मोदी उपमुख्यमंत्री पद पर शपथ ले सकते हैं। बीजेपी चुनाव से पहले ही घोषणा कर चुकी थी कि एनडीए की ओर से मुख्यमंत्री का चेहरा नीतीश कुमार ही होंगे और उनके चेहरे को आगे कर एनडीए चुनाव भी लड़ा था।

हालांकि उपमुख्यमंत्री पद को लेकर तमाम तरह की चर्चाएं चल रही थीं। कहा जा रहा था कि इस बार बीजेपी की ओर से किसी नए चेहरे को मौका दिया जा सकता है। बीच में इस पद के लिए कामेश्वर चौपाल का नाम भी सुर्खियों में रहा था। सुशील मोदी को दिल्ली भी बुलाया गया था। हालांकि अब एक तरह से तमाम कयासों पर विराम लग चुका है।

अन्य घटक दल 'वीआईपी' और 'हम' भी नीतीश कुमार को ही मुख्यमंत्री बनाने की बात कह चुके थे। हालांकि इस चुनाव में बीजेपी को ज्यादा और जेडीयू को कम सीटें आने के बाद यह चर्चाएं चलने लगी थीं कि क्या बीजेपी बड़ा दल होने के नाते अपना मुख्यमंत्री बनाएगा। बाद में बीजेपी की ओर से इन कयासों पर विराम लगाने की कोशिश भी की गई।

अब नीतीश कुमार शाम में राज्यपाल के समक्ष सरकार गठन का दावा पेश करेंगे। वे समर्थक विधायकों की सूची भी ले जाएंगे और उसे राज्यपाल को सौंपेंगे। इस बार एनडीए को 125 सीटें हासिल हुई हैं, जिनमें बीजेपी को 74, जेडीयू को 43, हम को 4 और वीआईपी को 4 सीटें मिली हैं। बताया जा रहा है कि इसके अलावा चकाई से जीते एकमात्र निर्दलीय विधायक सुमित कुमार सिंह का समर्थन भी नीतीश कुमार को मिल रहा है।

Next Story

विविध

Share it