अंधविश्वास

Noida Crime News : शादी नहीं हो रही थी तो बच्ची का किया अपहरण, तांत्रिक के कहने पर होली के दिन देने जा रहा था बलि

Janjwar Desk
16 March 2022 12:11 PM GMT
Noida Crime News : शादी नहीं हो रही थी तो बच्ची का किया अपहरण, तांत्रिक के कहने पर होली के दिन देने जा रहा था बलि
x

शादी नहीं हो रही थी तो बच्ची का किया अपहरण

Noida Crime News : सात वर्षीय बच्ची के अपहरण के मामले में पकड़े गए आरोपी ने बताया कि उसकी शादी नहीं हो रही थी, इसलिए तांत्रिक के कहने पर बच्ची की बलि देने जा रहा था...

Noida Crime News : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के नोएडा (Noida) सेक्टर- 63 थाना एरिया में हुए सात वर्षीय मासूम बच्ची के अपहरण के मामले का खुलासा मंगलवार को पुलिस ने कर दिया है। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है, जबकि तांत्रिक समेत तीन आरोपी अभी भी फरार है। इस अपहरण के पीछे जो वजह निकलकर सामने आई है, उसे सुनकर कोई भी चौंक जाएगा। युवक अपना घर बसाना चाहता था लेकिन किसी और का घर उजाड़ कर।

घटना का खुलासा करने वाली टीम को 50 हजार रुपए का इनाम

पुलिस का इस मामले में कहना है कि पकड़े गए आरोपी की शादी नहीं हो रही थी। उसने रिश्तेदार तांत्रिक के कहने पर बलि देने के लिए बच्ची का अपहरण किया है। होली के शुभ मुहूर्त पर बच्ची की बलि दी जानी थी। बता दें कि इस घटना का खुलासा करने वाली टीम को पुलिस कमिशनर ने 50 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की है।

घर के बाहर से लापता हुई थी बच्ची

बता दें कि सेक्टर 63 एरिया के छिजारसी कॉलोनी डूब क्षेत्र निवासी शत्रुघन कुमार की साथ वर्षीय बच्ची 13 मार्च को संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई थी। बच्ची उस समय घर के बाहर खेल रही थी। परिजन और पड़ोसियों ने उसकी काफी तलाश की लेकिन उसका कोई सुराग हाथ नहीं लग सका। परिजनों की तहरीर पर पोलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू की।

सीसीटीवी के जरिए अपराधियों को पकड़ा

इस मामले में डीसीपी सेंट्रल नोएडा हरिश्चंद ने बताया कि सीसीटीवी के आधार पर पुलिस आरोपियों तक पहुंची थी। आगे डीसीपी ने बतया कि बागपत के बालेनी गांव निवासी सोनू एवं किशनपुर गांव निवासी नीटू को गिरफ्तार किया गया है। सोनू और नीटू ने बच्ची का अपहरण किया था। दरअसल, सोनू और नीटू भी छिजारसी में ही रहते है। उसके बाद रिश्तेदार तांत्रिक सतेंद्र, रेखा और वर्षा बाल्मीकी की मदद से बागपत में बच्ची को रखा गया था।

होली के दिन देने जा रहा था बच्ची कि बलि

डीसीपी हरिश्चंद का कहना है कि करीब 25 वर्षीय सोनू बाल्मीकी की शादी नहीं हो रही थी। उसके रिश्तेदार बागपत के खामपुर लोहरी निवासी तांत्रिक सतेंद्र बाल्मीकी ने बताया कि अगर वह होली के शुभ मुहूर्त पर देवताओं को खुश करने के लिए बच्ची की बलि देनी होगी, तभी शादी हो सकेगी। इसी अंधविश्वास में फंसकर उसने नीटू के साथ मिलकर बच्ची का अपहरण कर लिया। बता दें कि अभी तांत्रिक सतेंद्र, रेखा और वर्षा फरार है।

Next Story

विविध