Top
अंधविश्वास

पुलिसकर्मी को सीढ़ियों पर आई अचानक छींक, पास खड़े 5 युवाओं ने 'अशुभ' कहकर गालियों के साथ बरसाये मुक्के, तोड़ दी नाक

Janjwar Desk
9 Feb 2021 12:59 PM GMT
पुलिसकर्मी को सीढ़ियों पर आई अचानक छींक, पास खड़े 5 युवाओं ने अशुभ कहकर गालियों के साथ बरसाये मुक्के, तोड़ दी नाक
x

फोटो : प्रतीकात्मक (सोशल मीडिया)

पीड़ित पुलिसकर्मी युवराज सिंह झाला ने बताया आरोपी युवाओं ने छींक को 'अशुभ' बताया और उन पर गालियों के साथ दनादन मुक्के बरसाने शुरू कर दिये, घटनास्थल पर मौजूद कुछ लोगों ने बड़ी मुश्किल से झाला को आरोपी युवाओं के चंगुल से कराया मुक्त...

अहमदाबाद। मोदी के गृहराज्य गुजरात में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने मानवता को शर्मसार किया है। यहां युवाओं की टोली ने एक पुलिसवाले को सिर्फ इसलिए पीट दिया क्योंकि उसने सार्वजनिक स्थल पर छींक दिया था।

अहमदाबाद मिरर में प्रकाशित एक खबर के मुताबिक गुजरात के अहमदाबाद में 26 साल के लोकरक्षक दल के जवान युवराज सिंह झाला को पांच युवाओं ने पब्लिक प्लेस पर छींकने के कारण सरेआम बुरी तरह पीट दिया। पिटाई में उसे लहुलूहान कर दिया गया। इसमें जवान की नाक भी टूट गयी। युवराज को शायद इस बात का तनिक भी अंदाजा नहीं होगा कि मात्र छींकना उसका इतना बड़ा जुर्म बन जायेगा कि उसे इतनी बुरी तरह पीट दिया जायेगा।

अहमदाबाद मिरर में प्रकाशित खबर के मुताबिक युवराज सिंह झाला ने नरोदा पुलिस स्टेशन में पांच युवकों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, जिसमें उसने कोविड महामारी के दौर में मात्र बीमारी फैल जाने की आशंका से पब्लिक में छींके जाने पर गाली-गलौच और पिटाई का मामला दर्ज कराया है।

नरोदा के 26 वर्षीय युवराज सिंह झाला की पोस्टिंग कृष्णानगर पुलिस स्टेशन में है। वह अकाउंट सेक्शन में कार्यरत हैं। जानकारी के मुताबिक जब कुछ युवाओं ने छींकने मात्र के कारण उस पर हमला किया तब वह अपने काम के सिलसिले में मामलतदार ऑफिस गया हुआ था, जहां उसके साथ यह मानवता को शर्मसार करने वाली घटना हुयी। जानकारी के मुताबिक काम पूरा होने के बाद ऑफिस से निकलते समय सीढ़ियों पर उसे अचानक से छींक आ गई, जिसके बाद पहले तो युवाओं ने उसके साथ गाली—गलौज की, फिर बुरी तरह पीट दिया।

अपनी शिकायत में युवराज सिंह झाला ने कहा है कि पास में खड़े दो युवाओं ने पहले उसके साथ गाली-गलौच की और फिर उसकी पिटाई शुरू कर दी। जब युवाओं ने उसके साथ मारपीट की तो झाला ने उन्हें कहा भी कि वह पुलिसकर्मी है और यहां ऑफिशियल काम से आया है। पुलिसवाला है, सुनकर युवा और भी ज्यादा भड़क गये और उन्होंने मौकास्थल पर अपने तीन अन्य साथियों को भी बुला लिया। इसके बाद सभी ने मिलकर झाला को बुरी तरह पीटा और उसके साथ गाली-गलौच भी की।

पीड़ित पुलिसकर्मी युवराज सिंह झाला के अनुसार आरोपियों ने छींक को 'अशुभ' बताया और उस पर दनादन मुक्के बरसाने शुरू कर दिये।

घटनास्थल पर मौजूद कुछ लोगों ने बड़ी मुश्किल से झाला को आरोपी युवाओं के चंगुल से मुक्त कराया, जिसके बाद उसने अपने सीनियर अधिकारियों को इस घटना के बारे में बताया, जो मौके पर पहुंचे। झाला की तरफ से पांच आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है, जिनकी पहचान भारत भारवाड, विपुल भारवाड, संजय भारवाड, रवि भारवाड़ और जगदीश भारवाड़ के रूप में हुयी है।

छींकने मात्र पर अंजाम दिये गये इस हमले में झाला को नाक और आंख के पास गंभीर चोटें आई हैं। उसे असरवा सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। अहमदाबाद मिरर से बातचीत में युवराज सिंह झाला ने बताया, 'मेरा नाक फ्रैक्चर कर गया है। आंख के पास कई सारे टांके लगे हुए हैं। डॉक्टर्स अभी मुझे हॉस्पिटल में ही निगरानी में रखेंगे।'

Next Story

विविध

Share it