Top
अंधविश्वास

अंधविश्वास : कुलदेवता को खुश करने के लिए दे दी पत्नी की बलि, बेटा आया मां को बचाने तो धमकाया तेरी भी दे दूंगा बलि

Janjwar Desk
3 Sep 2020 8:32 AM GMT
अंधविश्वास : कुलदेवता को खुश करने के लिए दे दी पत्नी की बलि, बेटा आया मां को बचाने तो धमकाया तेरी भी दे दूंगा बलि
x
जिस व्यक्ति ने अंधविश्वास के नाम पर ली अपनी पति की बलि उसके परिवार में पशु बलि देने की प्रथा रही है, लेकिन इस बार कुलदेवता को प्रसन्न करने के नाम पर उसने ले ली बीबी की ही बलि...

जनज्वार। मध्यप्रदेश में अंधविश्वाास का एक अजीब मामला सामने आया है। मध्यप्रदेश के सिंगरौली के बसौड़ा गांव में अधंविश्वास के कारण एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी की गला काट कर हत्या कर दी। इस घटना को उस व्यक्ति के बेटे ने देख लिया तो बाप ने उससे कहा कि भाग जा नहीं तो तेरी भी बलि चढा दूंगा।

बसौड़ा गांव के रहने वाले बृजेश केवट ने कुलदेवता को प्रसन्न करने के लिए अपनी पत्नी बिट्टी देवी की गला काट कर हत्या कर दी। जानकारी के अनुसार, बृजेश केवट अपने कुलदेवता की पूजा कर रहा था। उसके बाद सभी लोग सो गए, लेकिन रात में शोर-शराबा होने पर बेटा आया और उसने देखा तो पाया कि उसके माता-पिता झगड़ रहे हैं।

बेटे ने इस झगड़े का बीच-बचाव करने का प्रयास किया तो उसने उसे चेतावनी देते हुए हट जाने को कहा। बेटे के अनुसार, उसके पिता ने कहा कि तुम हट जाओ नहीं तो तुम्हें भी मार दूंगा।

उसने कहा कि जब वह बाहर निकला तो उसके पिता ने अंदर से दरवाजा बंद कर दिया और मां की हत्या कर दी और उसके बाद उसकी मां की गर्दन को मिट्टी के नीचे दबा दिया। इसके बाद बेटा रोने-चिल्लाने लगा तो पड़ोसी जुट गए और पूरे मामले को जान कर आवाक रह गए। इसके बाद फोन कर पुलिस को बुलाया गया।

इसके बाद एसपी वीरेंद्र प्रताप सिंह सहित अन्य अधिकारी व जवान मौके पर पहुंचे और जांच की। पुलिस का कहना है कि इस नृशंस हत्याकांड को अंधविश्वास में अंजाम दिया गया। बेटे ने भी कहा कि उसके परिवार में पशु बलि देने की प्रथा रही है। लेकिन, इस बार कुलदेवता को प्रसन्न करने के नाम पर परिवार के एक सदस्य की ही बलि चढा दी।

Next Story

विविध

Share it