अंधविश्वास

Meerut Crime News: महिला के मर चुके थे 6 बेटे, 2 बेटों को बचाने के लिए 5 साल के भतीजे की ली बलि

Janjwar Desk
20 Nov 2021 7:28 AM GMT
Meerut Crime News: महिला के मर चुके थे 6 बेटे, 2 बेटों को बचाने के लिए 5 साल के भतीजे की ली बलि
x

ताई ने तंत्र मंत्र के चक्कर में पांच साल के मासूम की जान ले ली(प्रतीकात्मक फोटो)

Meerut Crime News: मुकेश देवी ने बताया कि अपने नाबालिग बेटे के साथ मिलकर उसने पहले भानू का अपहरण किया। इसके बाद दराती से गला रेतकर उसकी हत्या कर दी और लाश को घर में भूसे के कमरे में छिपा दिया...

Meerut Crime News: उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut Crime News) से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां अंधविश्वास (Blind Faith) में एक महिला ने अपने ही देवरानी के पांच साल के बच्चे की हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि महिला ने अपने 14 साल के बेटे के साथ मिलकर हत्या की वारदात को अंजाम दिया। आरोपी महिला और उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनके पास से हत्या में इस्तेमाल दरांती भी बरामद किया है।

जानकारी के अनुसार, आरोपी महिला के 6 बच्चों की मौत हो चुकी है। जन्म के बाद ही किसी कारण से उसके बच्चे मर जाते हैं। फिलहाल आरोपी महिला के दो बेटे जिंदा है जो अक्सर बिमार रहते हैं। महिला को किसी ने बताया कि अगर वह एक बच्चे की बलि देगी तो उसके दोनों बेटे जीवित रहेंगे। इसी बीच 7 नवंबर को पुलिस को सूचना मिली की मुण्डाली थाना क्षेत्र के ग्राम सिसौली निवासी वीर सिंह का 5 वर्षीय बेटा बुद्धू उर्फ भानुप्रताप सिंह लापता है। गुमशुदगी के रिपोर्ट पर पुलिस बच्चे को तलाशने लगी। 8 नवंबर को बच्चे का शव वीर सिंह के बड़े भाई नरेश तोमर के घर से बरामद हुआ।

इसके बाद पुलिस ने बच्चे की सगी ताई मुकेश देवी और उसके बेटे को गिरफ्तार किया। पूछताछ के दौरान आरोपी महिला ने सनसनीखेज खुलासा किया है। महिला ने बताया कि उसने अंधविश्वास के चलते देवर के बेटे की बलि दी। आरोपी महिला ने कबूल कि उसके 6 बच्चों की पूर्व में मौत हो चुकी थी और अब दोनों बेटों की तबियत खराब रहती है। ऐसे में बेटों की बीमारी ठीक करने और उन्हें जिंदा रखने के लिए देवर के बेटे की बलि चढाई। मुकेश देवी ने पुलिस को बताया कि उसने कहीं सुना था कि यदि कोई महिला किसी बच्चे की बलि दे दे तो उसके बच्चों की उम्र लंबी हो जाती है। इसलिए अपने बेटे की मदद से देवर वीर सिंह के बेटे भानू का अपहरण कर बलि देने की योजना बनाई।

हत्या में 14 वर्षीय बेटे ने दिया साथ

आरोपी मुकेश देवी ने बताया कि अपने नाबालिग बेटे के साथ मिलकर उसने पहले भानू का अपहरण किया। इसके बाद दराती से गला रेतकर उसकी हत्या कर दी। बाद में लाश को घर में भूसे के कमरे में छिपाकर रख दिया। महिला ने प्लान किया था कि शव को दूर ले जाकर ठिकाने लगा देंगे। हालांकि इससे पहले ही पुलिस ने घर मे तलाशी ली और बच्चे का शव बरामद कर लिया। पुलिस ने बताया कि जिस दराती से बच्चे का गला काटकर हत्या की गई, उसे भी बरामद कर लिया गया है। मुख्य आरोपी महिला को जेल भेज दिया गया और नाबालिग बेटे को बाल संप्रेक्षण गृह भेजा गया है।

Next Story

विविध

Share it