Top
कोविड -19

PM मोदी को बढ़ा कोरोना का खतरा, अटल टनल उदघाटन में आये थे होम क्वारंटीन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के संपर्क में

Janjwar Desk
7 Oct 2020 4:18 AM GMT
PM मोदी को बढ़ा कोरोना का खतरा, अटल टनल उदघाटन में आये थे होम क्वारंटीन मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के संपर्क में
x
3 अक्टूबर को सीएम जयराम ठाकुर और उनके मंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ थे। इसके अलावा मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री को टोपी और पेंटिंग देकर उनका स्वागत किया गया था....

जनज्वार। अटल टनल रोहतांग के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए हिमाचल प्रदेश पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को लेकर हिमाचल प्रदेश के स्वास्थय विभाग की तरफ से बड़ी लापरवाही देखने को मिली है। रोहतांग टनल के कार्यक्रम में शामिल होने से पहले कोरोना से संक्रमित हुए बंजार के विधायक सुरेंद्र शौरी से हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और वन मंत्री राकेश पठानिया संपर्क में आए थे। 2 अक्टूबर को विधायक सुरेंद्र शौरी के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद भी खुद विधायक समेत स्वास्थय विभाग के अधिकारियों और जिला प्रशासन ने सीएम को पॉजिटिव आने की जानकारी नहीं दी थी।

अमर उजाला की खबर के मुताबिक मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर खुद मान चुके हैं कि उन्हें तीन अक्टूबर को विधायक के पॉजिटिव होने की सूचना मिली थी। ऐसे में विधायक के पॉजिटिव आने की बात को सीएम को ना बताने के कारण कई अधिकारियों को दिक्कत में डाल सकता है। अटल टनल के उद्घाटन से पहले विधायक सुरेंद्र शौरी ने सीएम के अलावा कई मंत्रियों, विधायकों, अधिकारियों और कई लोगों के संपर्क में आए थे। जो रैली स्थल पर मौजूद थे। पॉजिटिव आने के बाद

विधायक के पॉजिटिव होने की बात का पता लगने के बाद सीएम जयराम ठाकुर समेत वन मंत्री राकेश पठानिया ने खुद को क्वारंटीन कर लिया है। इसके अलावा सीएम के राजनीतिक सलाहकार त्रिलोक जम्वाल, भाजपा के संगठन महामंत्री पवन राणा समेत आधा दर्जन से ज्यादा नेता ने भी खुद को आइसोलेट कर लिया है। हालांकि राकेश पठानिया का कहना है कि जब उन्होंने शौरी से मुलाकात की थी। तो उन्होंने सोशल डिस्टेंस और मास्क को लगा कर रखा था। लेकिन सवाल ये ही कि अगर लक्षण होने के कारण विधायक ने टेस्ट करवाया था। तो उन्हें उसी समय क्वारंटीन क्यों नहीं किया गया ?

3 अक्टूबर को सीएम जयराम ठाकुर और उनके मंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ थे। इसके अलावा मुख्यमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री को टोपी और पेंटिंग देकर उनका स्वागत किया गया था। ऐसे में प्रशासन की इस गलती ने प्रधानमंत्री मोदी को भी खतरे में डाल दिया है। इसके अलावा हिमाचल प्रशासन की सारी व्यवस्थाओं की भी पोल खोल दी गई है।

Next Story

विविध

Share it