कोविड -19

टिटौली फॉलोअप : सरकारी आंकड़ों में कोरोना से सिर्फ 4 मौतें, जबकि 10 दिन में मर चुके 40 लोग

Janjwar Desk
9 May 2021 3:54 AM GMT
टिटौली फॉलोअप : सरकारी आंकड़ों में कोरोना से सिर्फ 4 मौतें, जबकि 10 दिन में मर चुके 40 लोग
x
साढ़े बारह हजार से अधिक की आबादी वाले टिटौली गांव में अभी तक मुश्किल से 200-300 लोगों ने कोविड जांच करवायी है, जोकि बहुत ही मामूली माना जा सकता है....

रोहतक, जनज्वार। हरियाणा के टिटौली गांव में मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। 8 मई को भी गांव में दो लोगों ने दम तोड़ दिया है। इस तरह से गांव में अभी तक 39 मौत हो चुकी है। प्रशासन का दावा है कि गांव में हुई मौत में 4 व्यक्तियों की मौत कोरोना वायरस के संक्रमण से हुई है। प्रशासन की कोशिश के बाद भी गांव के लोग टेस्ट के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। इस वजह से अधिकारी अब गांव में आर्य समाज के लोगों की मदद ले रहे हैं।

गांव टिटौली में आर्य समाज का अच्छा-खासा प्रभाव है। इसके प्रभाव की वजह से ही काफी लोगों ने सामाजिक बुराईयों को छोड़ा है और बचे भी हुए हैं। अब प्रशासन की योजना है कि आर्य समाज के प्रभाव का गांव में इस्तेमाल करके लोगों को काेविड टेस्ट करवाने के लिए सहमत किया जाएगा। आर्य समाज के सिद्धांतों में लोगों की बहुत आस्था है।

संबंधित खबर : हरियाणा के आंदोलनकारी किसानों के गांवों में फैला कोरोना, सरकार पर किसानों का अविश्वास बना बड़ा कारण

ऐसे में उम्मीद की जा सकती है कि लोग संतों की बात को मानकर टेस्ट करवाना शुरू कर देंगे। साढ़े बारह हजार से अधिक की आबादी वाले टिटौली गांव में अभी तक मुश्किल से 200-300 लोगों ने कोविड टैस्ट करवाया है, जोकि बहुत ही मामूली माना जा सकता है।

गांव में हवन का आयोजन

दूसरी ओर आर्य समाज की ओर से अब गांव में हवन का आयोजन किया। इसके साथ ही गांव में जागरूक अभियान भी चलाया गया है। लोगों से अपील की कि वह मास्क पहन कर रखे। साथ ही एक दूसरे से सामाजिक दूरी बना कर रखे, जिससे संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

संबंधित खबर : हरियाणा के रोहतक जिले के गांव टिटौली में कोरोना विस्फोट, 37 मौतें, प्रशासन का दावा 4 की मौत कोविड

युवा आर्य संन्यासी टिटौली स्वामी आदित्यवेश ने बताया कि गांव के लाेगों को जागरूक किया जा रहा है। हवन यज्ञ में चलते—फिरते हवन यज्ञ का भी आयोजन किया गया है। इसके पीछे भी कोशिश यही है कि गांव को संक्रमण मुक्त कराया जाए। उन्होंने बताया कि गांव के लोग सहयोग कर रहे हैं। उम्मीद है अब वह टेस्ट के लिए भी आगे आएंगे। इस गांव में लगातार मौत का सिलसिला जारी है। इस वजह से गांव में दहशत का माहौल बना हुआ है।

Next Story
Share it