शिक्षा

Chandigarh University MMS leak मामले में बड़ा खुलासा, लड़की के मोबाइल से रिकवर हुए 12 वीडियो, खुले कई राज

Janjwar Desk
20 Sep 2022 7:31 AM GMT
Chandigarh University MMS leak मामले में बड़ा खुलासा, एक के बाद एक लड़की के मोबाइल से रिकवर हुए 12 वीडियो, खुले कई राज
x

Chandigarh University MMS leak मामले में बड़ा खुलासा, एक के बाद एक लड़की के मोबाइल से रिकवर हुए 12 वीडियो, खुले कई राज

Chandigarh University MMS leak case : सीयू एमएमएस लीक कांड में सात दिनों तक पुलिस रिमांड में भेजे गए तीनों आरोपियों यानि छात्रा, उसका बॉयफ्रेंड सनी मेहता और उसका दोस्त रंकज वर्मा से शुरुआती पूछताछ में पुलिस को कई तथ्य हाथ लगे हैं।

Chandigarh University MMS leak case : पंजाब के चंडीगढ़ की यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल में लड़कियों के वीडियो लीक ( mms goest viral ) होने के मामले में मंगलवार को बड़ा खुलासा ( big disclosure in mms leak case ) हुआ है। अब इस मामले में एक चौथे आरोपी की एंट्री हो गई है। सात दिनों तक पुलिस रिमांड में भेजे गए तीनों आरोपियों यानि छात्रा, उसका बॉयफ्रेंड सनी मेहता और उसका दोस्त रंकज वर्मा से शुरुआती पूछताछ में कई तथ्य हाथ लगे हैं। छात्रा के मोबाइल से एक दर्जन से ज्यादा वीडियो रिकवर कर लिए हैं। इतना ही नहीं अब इस मामले में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी ( Chandigarh University ) के छात्राओं का इंटरनेशनल वीडियो लीक करने की धमकियां दी जा रही हैं।

पंजाब पुलिस ( Punjab Police ) की माने तो रिकवर किए गए सभी वीडियोज उसके अपने हैं। पुलिस ने वॉट्सएप चैट ट्रांसक्रिप्शन भी हासिल की है जिसके मुताबिक आरोपी छात्रा किसी मोहित से चैट कर रही थी। वह छात्रा को वीडियो और फोटोज डिलीट करने को कह रहा है। इस पर आरोपी छात्रा कहना है कि आज मरवा ही दिया था क्योंकि एक छात्रा ने उसे एक नहाती हुई छात्रा की फोटो लेते हुए देख लिया था।

दूसरी तरफ आरोपियों के वकील और पुलिस ने छात्रा के मोबाइल फोन में एक अन्य छात्रा की फोटो होने की बात कही है, लेकिन उसकी पहचान नहीं हो पाई है। पुलिस ने आरोपी छात्रा के अलावा उसके बॉयफ्रेंड और उसके दोस्त से 4 मोबाइल फोन बरामद किए हैं, जिनकी फॉरेंसिक जांच की जा रही है। पुलिस ने छात्रा का लैपटॉप भी कब्जे में लिया है।

तीनों आरोपियों के मोबाइल फोन पर कुछ व्हाट्सएप ग्रुप्स मिले हैं। इन नंबरों की लिस्ट बनाई गई है। इन व्हाट्सएप ग्रुप्स में वीडियो शेयर किया गया है या नहीं इसकी जांच की जा रही है। यदि इस ग्रुप्स से डाटा डिलीट किया गया है तो उसे फॉरेंसिक टीम दोबारा हासिल करेंगी, जिससे यह पता लगाया जा सके कि यह किस तरह का डाटा है।

चंडीगढत्र पुलिस ( Chandigarh Police ) यह जानने की कोशिश कर रही है कि क्या सनी ने आरोपी छात्रा को ब्लैकमेल करके, जबरन छात्राओं के वीडियो बनाने का दबाव बनाया था। दूसरा वीडियो किस युवती का है, उसे कहां पर बनाया गया है। इसकी भी जांच की जा रही है। इस मामले की जांच कर रही एसआईटी यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में जांच के लिए जाएगी। जहां वीडियो बनाने का दावा किया जा रहा है। टीम अपने साथ आरोपी छात्रा को भी वहां लेकर जाएगी।

बता दें कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी एमएमएस लीक ( Chandigarh University MMS leak case ) मामले में एक छात्रा द्वारा छात्रावास की कई छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो रिकॉर्ड किए जाने के आरोपों को लेकर शनिवार रात छात्रों ने प्रदर्शन शुरू किया था। कुछ छात्रों का आरोप है कि वीडियो लीक किए गए हैं। जबकि चंडीगढ़ पुलिस ने कहा था कि ऐसा लगता है कि 23 साल की आरोपी छात्रा ने केवल अपना एक वीडियो उस युवक के साथ साझा किया जिसे उसका प्रेमी बताया जा रहा है और किसी अन्य छात्रा का कोई आपत्तिजनक वीडियो नहीं मिला है।

Next Story

विविध