Top
गवर्नेंस

UP : पंचायत चुनाव जीतने के लिए योगीराज में सत्ता का दुरूपयोग, गांव की सड़क खोदने के बाद सपा नेता का घर गिराने की कोशिश

Janjwar Desk
29 Jun 2021 7:34 AM GMT
UP : पंचायत चुनाव जीतने के लिए योगीराज में सत्ता का दुरूपयोग, गांव की सड़क खोदने के बाद सपा नेता का घर गिराने की कोशिश
x

जिला पंचायत चुनाव जीतने के लिए गोरखपुर के बाद सिद्धार्थनगर से मामला सामने आया है.

सपा नेता ने वीडियो जारी कर आरोप लगाया कि वार्ड नंबर 33 से उनकी पत्नी जिला पंचायत सदस्य हैं। शनिवार को जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए पर्चा दाखिले में मेरी पत्नी सपा की प्रत्याशी पूजा यादव की प्रस्तावक रहीं। इस वजह से पुलिस अब परेशान कर रही है...

जनज्वार, सिद्धार्थनगर। उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर स्थित बांसी क्षेत्र के सपा नेता मोनू दुबे ने पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाये हैं कि सपा की जिला पंचायत अध्यक्ष उम्मीदवार पूजा यादव का प्रस्तावक बनने के चलते पुलिस उन्हें प्रताड़ित कर रही है।

गौरतलब है कि प्रदेश में 3 जुलाई को जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होने हैं। जिसको लेकर एक तरफ जहां सत्तासीन भाजपा बढ़त बनाना चाह रही है तो वहीं विपक्ष की समाजवादी पार्टी उसे कड़ी टक्कर दे रही है। सपा सहित विपक्षी पार्टियों ने भाजपा पर प्रशासन का उपयोग कर जिला पंचायत सदस्यों को डराने धमकाने का भी आरोप लगाया हैं।

इसी कड़ी में सिद्धार्थनगर जिले से सपा नेता मोनू दुबे ने आरोप लगाया है कि, जिला पंचायत सदस्य पर प्रशासनिक अत्याचार किया जा रहा है। वोट के लिए सदस्य को डराने का काम किया जा रहा है। बता दें सपा नेता मोनु दुबे की पत्नी जिला पंचायत सदस्य चुनी गई हैं।

मोनू यादव ने कहा कि, पुलिस और प्रशासन हमारे घर बुलडोजर लेकर पहुंचा है। सदस्य के गांव की सड़क खोद डाली गई। यही नहीं मोनू दुबे का घर भी गिराने की कोशिश की गई। सपा कार्यकर्ता पर पुलिस प्रशासन सितम कर रहा है। जानकारी के मुताबिक प्रशासन मोनू का घर और कार्यालय ढहाने की तैयारी में है।

उन्होंने वीडियो जारी कर आरोप लगाया कि वार्ड नंबर 33 से उनकी पत्नी जिला पंचायत सदस्य हैं। शनिवार को जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए पर्चा दाखिले में मेरी पत्नी सपा की प्रत्याशी पूजा यादव की प्रस्तावक रहीं। इस वजह से पुलिस अब परेशान कर रही है। हमें धमका रही है। घर पर दबिश देकर पुलिस ने हमारी गाड़ी जब्त की है। हमारा घर गिराने की कोशिश की।

सपा नेता ने कहा कि पुलिस की इस कार्यशैली से वे डरने वाले नहीं हैं। एएसपी सुरेश चंद्र रावत ने कहा कि पुलिस किसी को प्रताड़ित नहीं कर रही है। उनकी गाड़ी के नंबर को लेकर शिकायत मिली थी। पुलिस एआरटीओ के संग गई थी। जांच में खामियां मिलने पर गाड़ी को एआरटीओ अपने साथ ले आए हैं।

Next Story

विविध

Share it