स्वास्थ्य

Uttar Pradesh News : मरीजों को न खाना मिल रहा न पानी, एटा में कुछ महीनों पहले शुरू हुए कॉलेज की खस्ता हालत

Janjwar Desk
6 April 2022 9:56 AM GMT
Uttar Pradesh News : मरीजों को न खाना मिल रहा है न पानी, एटा में कुछ महीनों पहले शुरू हुए कॉलेज की खस्ता हालत
x

मरीजों को न खाना मिल रहा है न पानी, एटा में कुछ महीनों पहले शुरू हुए कॉलेज की खस्ता हालत

Uttar Pradesh News : कुछ महीनों पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीरांगना अवंतीबाई लोधी मेडिकल कॉलेज का उद्धाटन किया था लेकिन कुछ महीनों में ही यहां की बदइंतजामी की पोल खुलती दिख रही है...

Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर तमाम दावों के बीच एटा (Etah) के मेडिकल कॉलेज (Etah Medical College) के बदहाली की तस्वीर सामने आई है। कुछ महीनों पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां वीरांगना अवंतीबाई लोधी मेडिकल कॉलेज का उद्धाटन किया था लेकिन कुछ महीनों में ही यहां की बदइंतजामी की पोल खुलती दिख रही है। यहां पर भर्ती मरीजों को ठीक से इलाज मिलना तो दूर खाना और गर्मियों में पानी तक नहीं मिल पा रहा है। मरीजों ने बताया कि उनको 1 अप्रैल से न तो खाना दिया गया है न ही पानी दिया गया है। मरीजों के तीमारदार ही किसी तरह खाना और पानी का इंतजाम कर रहे हैं।

मरीजों को न मिल रहा है खाना न ही पानी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi ) ने जब इस मेडिकल कॉलेज का उद्धाटन किया था तो कहा जा रहा था कि अब जिले में स्वास्थ्य व्यवस्था थोड़ी बेहतर हो सकेगी लेकिन फिर भी यहां की तस्वीर नहीं बदली है। मेडिकल कॉलेज के टॉयलेट में गंदगी का अंबार है। यहां से आने वाली दुर्गंध से मरीजों का बुरा हाल है। मरीजों का कहना है कि डॉक्टर भी उन्हें ठीक से नहीं देखते हैं। जब उन्हें बुलाया जाता है, तभी वह मरीज के पास आते हैं। एबीपी की खबर के अनुसार 1 अप्रैल से मरीजों को यहां खाना नहीं दिया गया है। यहां खाना तो दूर मरीजों के लिए भीषण गर्मी में पानी तक की व्यवस्था नहीं है। मरीज बाजार से पानी खरीदकर पी रहे हैं।

अस्पताल व्यवस्थाओं की खस्ता हालत

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार मेडिकल कॉलेज में खाना सप्लाई करने वाली संस्था का पिछले एक साल से भुगतान नहीं किया गया है। इसकी वजह से अस्पताल में खाने के सप्लाई रोक दी गई है। मेडिकल कॉलेज प्रशासन कोई एक्शन नहीं ले रहा है। हालत ये है कि अस्पताल के व्यवस्था पूरी तरह चरमराती दिख रही है और कोई भी इसकी जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं हैं और न ही सुधर के लिए कोशिश करता दिख रहा है।

Next Story