सिक्योरिटी

सुशांत सिंह की आत्महत्या के बाद रील मां बोलीं बहुत शांत स्वभाव का था वो, आखिर कैसे उठा सकता है ऐसा कदम

Janjwar Desk
15 Jun 2020 9:09 AM GMT
सुशांत सिंह की आत्महत्या के बाद रील मां बोलीं बहुत शांत स्वभाव का था वो, आखिर कैसे उठा सकता है ऐसा कदम
x
उषा कहती हैं, सुशांत अपने काम से काम रखने वाला लड़का था, काफी अच्छा था, मुझे हमेशा उसकी याद आएगी, स्तब्ध हूं कि वह आत्महत्या कैसे कर सकता है...

जनज्वार। फांसी के फंदे झूलकर अपनी जिंदगी खत्म करने वाले बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत टेलीविजन से की थी। मशहूर धारावाहिक 'पवित्र रिश्ता' ने उन्हें मानव के रूप में घर घर में पहचान दिलायी। आज भी ज्यादातर लोग उन्हें बतौर मानव ही याद कर रहे हैं।

इस धारावाहिक में उनके किरदार की वजह से उन्हें आज भी दर्शक शिद्दत से याद करते हैं। इस धारावाहिक में सुशांत सिंह यानी मानव की आई (मां) का किरदार निभाने वालीं अभिनेत्री उषा नाडकर्णी उनके निधन की खबर से बेहद स्तब्ध हैं। सुशांत के बारे में वह कहती हैं, "सुशांत काफी शांत स्वभाव के थे। हमने पवित्र रिश्ता में करीब ढाई साल तक साथ काम किया, इस दौरान उसे अच्छी तरह से घुल—मिल गये थे। वह बहुत अच्छा लड़का था।

उषा कहती हैं, पवित्र रिश्ता में सुशांत सिंह राजपूत की मां की भूमिका को निभाने का अनुभव काफी बेहतरीन रहा।

उषा आगे कहती हैं, "जब मुझे सुशांत के निधन के बारे में पता चला तो मैं यकीन नहीं कर पाई। मुझे लगा है कि यह कोई अफवाह होगी। उस वक्त मेरी प्रतिक्रिया यही थी कि सुशांत आत्महत्या कैसे कर सकता है? लेकिन तब तक हर जगह यही खबर दिखाई जा रही थी और दुख की बात तो यह है कि यह सच निकली।

उषा कहती हैं, "सुशांत के निधन की खबर पढ़ते ही मेरा पूरा शरीर कांपने लगा। आंखों से आंसू बहने लगे। एक पल के लिए मैं स्तब्ध रह गई। उनकी आत्मा को शांति मिले।'

उषा आगे कहती हैं, "सुशांत के शो को छोड़ने के बाद मैं उनके संपर्क में नहीं थीं। उन्होंने फिल्मी दुनिया में कदम रखा और एक सफल एक्टर बन गए। उनकी जिंदगी बदल गई और उनसे संपर्क कर मैंने उन्हें कभी परेशान करने का प्रयास नहीं किया। वह काफी शांत स्वभाव के थे। वह सेट पर चुपचाप बैठे रहते थे और दूसरों को अकसर सहज महसूस कराया करते थे। अपने काम से काम रखने वाला लड़का था। काफी अच्छा था। मुझे हमेशा उसकी याद आएगी।

Next Story

विविध

Share it