Top
जनज्वार विशेष

जय श्रीराम और मोदी जिंदाबाद के नारे नहीं लगाने पर मुस्लिम ऑटो चालक को बुरी तरह पीटा

Janjwar Desk
8 Aug 2020 7:19 AM GMT
जय श्रीराम और मोदी जिंदाबाद के नारे नहीं लगाने पर मुस्लिम ऑटो चालक को बुरी तरह पीटा
x

धार्मिक नारे न लगाने पर 52 साल के मुस्लिम आटो ड्राइवर को इतनी बेरहमी से पीटा 2 लोगों ने

कार सवार 2 युवकों ने गफ्फार की दाढ़ी के बाल खींचे और 'मोदी ज़िन्दाबाद' एवं 'जय श्री राम' के नारे लगाने को कहा, मना करने पर बुरी तरह पीटते हुए दी पाकिस्तान भेजने की धमकी...

अवधेश पारीक की रिपोर्ट

जनज्वार, जयपुर। देश में जहां एक तरफ राम मंदिर भूमिपूजन का जश्न अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि राजस्थान के सीकर जिले से एक ऐसी घटना सामने आयी है, जिसके बाद आबोहवा में चल रही सदभावना और भाईचारे की मिसालें बौनी पड़ती दिखाई देती है।

सीकर जिले की घटना के मुताबिक, यहां देवीपुरा रोड़ निवासी 52 वर्षीय ऑटो चालक गफ्फार अहमद के साथ धार्मिक नारे लगाने का विरोध करने पर उनके साथ मारपीट और अभद्रता का मामला सामने आया है, जिसके बाद सीकर सदर थाने में इसके बावत शिकायत दर्ज करवाई गई है।

थाने में दर्ज हुई एफ़आईआर के मुताबिक गफ्फार ने बताया कि, वह 7 अगस्त, शुक्रवार को सुबह 4 बजे सीकर जिले के पास के गांव झींगर छोटी में कुछ सवारियों को छोड़ कर जब वापस आ रहे थे तो बीच रास्ते में कार सवार दो युवकों ने उन्हें रोककर उनके साथ मारपीट की और धार्मिक नारे लगाने को कहा।

वहीं पीड़ित ने आगे पूरे घटनाक्रम के बारे में बताते हुए कहा कि, 'कार सवार युवकों ने बीच सड़क पर उनसे गुटखा मांगकर उन्हें रोका, उनके मांगने पर मैंने उन्हें गुटखा दिया लेकिन उन्होंने लेने से मना कर दिया और मुझे ऑटो से बाहर खींचकर मोदी जिंदाबाद और 'जय श्रीराम' के नारे लगाने को कहा और पीटने लगे।'

पीड़ित गफ्फार ने आगे यह भी बताया कि वह उस दौरान वहां से ऑटो लेकर निकल गए, लेकिन वह गाड़ी में उनका पीछा करने लगे और सीकर पहुंचने पर गाड़ी आगे लगाकर ऑटो रूकवा लिया।


उसके बाद उन्होंने उनकी दाढ़ी के बाल खींचे और फिर "मोदी ज़िन्दाबाद" और "जय श्री राम" के नारे लगाने को कहा और मेरे द्वारा मना करने पर उन्होंने मुझे पाकिस्तान भेजने की धमकी दी और बुरी तरह पीटने लगे। इसके बाद दोनों मुझे बेहोशी की हालत में छोड़कर वहां से भाग गए।

गौरतलब है कि सीकर के सदर पुलिस थाने में आरोपियों के ख़िलाफ़ भारतीय दंड संहिता की धारा 323, 341, 295A, 504, 506, 327, 382, 34 इन 8 धाराओं में मुक़दमा दर्ज किया गया है।


पीड़ित गफ्फ़ार का अस्पताल में इलाज चल रहा है। जनज्वार से हुई बातचीत में उनके बेटे अल्ताफ ने बताया कि, मेरे पिता जी सुबह 5 बजे खून से लथपथ घर आए और हमें पूरे वाकये के बारे में बताया जिसके बाद मैंने हमारे पार्षद और कुछ जानकार लोगों को बुलाकर पुलिस में मामला दर्ज करवाया। अल्ताफ आगे कहते हैं, अभी मेरे पिता सीकर के सरकारी अस्पताल में भर्ती है, जहां उनका चल रहा है।

वहीं सदर थाना SI पुष्पेन्द्र सिंह ने जनज्वार से हुई बातचीत में बताया, हमनें शिकायत मिलते ही तुरंत इस प्रकरण में दोनों आरोपियों शम्भु और राजेन्द्र को गिरफ़्तार कर लिया है और घटना के दौरान इस्तेमाल गाड़ी को जब्त कर लिया है। आगे हम दोनों आरोपियों को आज मजिस्ट्रेड के सामने पेश करेंगे, जिसके बाद उचित आदेश पर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

इसके अलावा घटना के सामने आने के बाद इस पर चिंता जताते हुए जमात-ए-इस्लामी हिंद राजस्थान के प्रदेशाध्यक्ष मोहम्मद नाज़िमुद्दीन का कहना है कि, ऐसी घटनाएं हमारे समाज में वैमनस्यता के माहौल को बढ़ावा देती है और इससे आपसी कटुता बढ़ती है।

उन्होंने कहा कि, ऐसा काम करने वालों को सख़्त से सख़्त सज़ा मिलनी चाहिए और सरकार को ऐसी घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए सख़्त क़दम उठाने चाहिए।

Next Story

विविध

Share it