Top
आंदोलन

दिल्ली : दलित नाबालिग लड़की के गैंगरेप-हत्या की रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए प्रदर्शनरत छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लेकर पीटा

Janjwar Desk
16 Oct 2020 12:42 PM GMT
दिल्ली : दलित नाबालिग लड़की के गैंगरेप-हत्या की रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए प्रदर्शनरत छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लेकर पीटा
x

दिल्ली में दलित बच्ची के गैंगरेप और हत्या की रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए परिजनों के साथ छात्र कर रहे थे प्रदर्शन

घटना के 12 दिन बीत जाने के बावजूद अभी तक इस मामले में कोई कार्रवाई पुलिस की तरफ से नहीं की गयी है, उल्टा परिजनों को लॉकअप में बंद कर ​पीटने का मामला जरूर सामने आया है...

जनज्वार, दिल्ली। दिल्ली स्थित मॉडल टाउन थाने के सामने दलित नाबालिक बच्ची के बलात्कार और हत्या के केस में रिपोर्ट दर्ज किये जाने समेत कुछ अन्य मांगों के लिए आज 16 अक्टूबर को प्रदर्शन कर रहे भगत सिंह छात्र एकता मंच से जुड़े छात्रों और कुछ अन्य लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने छात्रों के साथ बेहद बुरा बर्ताव करते हुए नए केवल छात्रों को हिरास में लिया, बल्कि पहले से प्रदर्शन की सूचना देने के बावजूद उनके साथ मारपीट की गयी।

गौरतलब है कि ये लोग मकान मालिक के लड़के और ड्राइवर द्वारा गैंगरेप के बाद मार दी गयी दलित बच्ची को न्याय दिलाने के लिए प्रदर्शन कर रहे थे। इनकी मांग थी कि आरोपियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी की जाये, मगर पुलिस ने आरोपियों के बजाय प्रदर्शनकारियों को ही हिरासत में ले लिया।

दिल्ली विश्वविद्यालय परिसर के पास स्थित मॉडल टाउन के गुड़ मंडी में 4 अक्टूबर 2020 को दलित युवती के साथ जघन्य कांड सामने आया था। इस घटना के बाद पुलिस ने परिवार वालों के लगातार कहने पर भी एफआईआर दर्ज नहीं की और उन्हें बुरी तरह पीटा गया। इतना ही नहीं घंटों लॉकअप में भी बंद किया और और पुरुष पुलिसकर्मियों ने महिलाओं पर हाथ उठाया। घटना के 12 दिन बीत जाने के बावजूद अभी तक इस मामले में कोई कार्रवाई पुलिस की तरफ से नहीं की गयी है।

संबंधित खबर : नाबालिग दलित बच्ची की गैंगरेप के बाद हत्या के 12 दिन बाद भी दिल्ली पुलिस ने दर्ज नहीं की FIR, परिजनों ने लगाया पिटाई का आरोप

इस घटना की रिपोर्ट लिखवाने और पुलिसिया ज्यादती के विरोध में भगत सिंह छात्र एकता मंच ने आज 16 अक्टूबर को धरना प्रदर्शन आयोजित किया था। पूर्व घोषणा के तहत सभी छात्र, पीड़िता के परिवार के साथ अन्य नजदीकी लोग एफआईआर दर्ज कराने की मांग को लेकर पुलिस के पास गए थे, परन्तु लगातार इन मामलों पर पर्दा डाल रही पुलिस ने छात्रों के साथ बेहद बुरा बर्ताव करते हुए नए केवल छात्रों को हिरास में लिया, बल्कि पहले से प्रदर्शन की सूचना देने के बावजूद उनके साथ मारपीट की गयी।

इस घटना का विरोध करते हुए भगत सिंह छात्र एकता मंच का कहना है कि पूरे देश में पुलिस प्रशासन के गुंडाराज के बढ़ते जाने का एक ज्वलंत उदाहरण है। जनता लगातार पुलिसिया दमन का शिकार होती जा रही है। छात्र मोर्चा ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपील की है कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में इस घटना के विरोध में लोग मॉडल टाउन पुलिस स्टेशन में जमा हों और दमनकारी प्रक्रिया के विरोध में संघर्ष तीव्र करें।

Next Story
Share it