आंदोलन

दलित युवक जगदीश हत्याकांड के खिलाफ भिक्यासैंण की सड़कों पर उमड़ा जनसैलाब, पत्नी गीता सहित परिवार को सुरक्षा और मुआवजे की हुई मांग

Janjwar Desk
11 Sep 2022 12:15 PM GMT
दलित युवक जगदीश हत्याकांड के खिलाफ भिक्यासैंण की सड़कों पर उमड़ा जनसैलाब, पत्नी गीता सहित परिवार को सुरक्षा और मुआवजे की हुई मांग
x

दलित युवक जगदीश हत्याकांड के खिलाफ भिक्यासैंण की सड़कों पर उमड़ा जनसैलाब, पत्नी गीता सहित परिवार को सुरक्षा और मुआवजे की हुई मांग

Protest Against Dalit Youth Jagdish honor killing in Bhikiyasain : भाजपा विधायक महेश जीना, स्थानीय भाजपा सांसद अजय टम्टा, कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य समेत मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह बिष्ट ने भी उत्तराखंड को दहलाने वाले दलित युवक जगदीश के वीभत्स हत्याकांड पर अभी तक चुप्पी साधी हुयी है....

Almora kand : सवर्ण युवती से प्रेम विवाह करने के जुर्म में जातीय आतंकवादियों के हाथो कत्ल हुए पनुवाद्योखन गांव निवासी उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के युवा नेता जगदीश चंद्र के परिवार को इंसाफ दिलाए जाने के लिए रविवार को भिक्यासैंण की सड़कों पर उतरे जनसैलाब ने जोरदार प्रदर्शन किया।

दिवंगत जगदीश की पत्नी और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी के साथ मुआवजा और सुरक्षा, जगदीश की सुरक्षा में लापरवाही बरतने वाले अल्मोड़ा एसएसपी और डीएम को सस्पेंड करने की मांग को लेकर 'जातिवाद का नाश हो' के संकल्प के साथ रामनगर, अल्मोडा, मालधन, पनुवाद्योखन, द्वाराहाट, पिथौरागढ़, मासी, चौखुटिया, नैनीताल समेत कई अन्य क्षेत्रों से सैंकड़ों की संख्या में आए प्रदर्शनकारी भिक्यासैंण के पनपोला पुल पर पहुंचे। यहहां प्रदर्शनकारियों के स्वागत के लिए भारी पुलिस बल पहले ही मौजूद था। दर्जनों पुलिसकर्मियों के सुरक्षा पहरे में प्रदर्शनकारियों के काफिला बड़याली बाजार, खड़ी बाजार, गांधीनगर, पुलिस चौकी, तहसील चौक से होते हुए वापस बड़याली तिराहे पहुंचकर एक बड़ी जनसभा में तब्दील हो गया।

उत्तराखण्ड परिवर्तन पार्टी के नेता प्रभात ध्यानी के संचालन में आयोजित जनसभा को कई वक्ताओं ने संबोधित किया। वक्ताओं ने जातिवादी मानसिकता पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि समाज में व्याप्त जातिवादी ढांचे को तोड़कर सामाजिक समरसता का वातावरण तैयार करने के लिए समाज के प्रबुद्ध लोगों को आगे आना पड़ेगा। वक्ताओं ने प्रदर्शनकारियों के चारो तरफ फैली पुलिस पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब लोगों को पुलिस की मदद की जरूरत होती है, उस समय पुलिस बगले झांकने लगती है, लेकिन जब जनता अपने मुद्दों को लेकर सड़क पर उतरती है तो पूरा पुलिस तंत्र जनता के प्रतिरोध को दबाने के लिए सड़कों पर उतर आता है।


वक्ताओं ने स्थानीय भाजपा विधायक महेश जीना सहित स्थानीय भाजपा सांसद अजय टम्टा, कैबिनेट मंत्री रेखा आर्य सहित मुख्यमंत्री को निशाने पर लेते हुए कहा कि पूरे उत्तराखंड को दहलाने वाले वीभत्स हत्याकांड पर भी पूरा सत्ता प्रतिष्ठान शर्मनाक चुप्पी साधे हुए है। मुख्यमंत्री धामी के साथ सांसद अजय टम्टा ने सल्ट क्षेत्र में मौजूद रहने के बाद भी इस कांड पर अपनी चुप्पी नहीं तोड़ी है। वक्ताओं ने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगों को इग्नोर करने की कोशिश की तो इसके बाद अल्मोड़ा जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया जायेगा। जरूरत पड़ी तो मामले में मुख्यमंत्री का घेराव कर सत्ता प्रतिष्ठान से जुड़े लोगों का भी विरोध किया जाएगा।

कार्यक्रम में यह रहे मौजूद

भिक्यासैंण में आज रविवार 11 सितंबर को किए गए प्रदर्शन के दौरान उपपा चीफ पीसी तिवारी, समाजवादी लोकमंच के मुनीष कुमार, जीवन चंद्र, नरीराम स्नेही, युवा एकता मंच के इंद्रजीत सिंह, कौशल्या, उत्तराखंड छात्र संगठन की भारती पाण्डे, स्निग्धा तिवारी, रवि, नवीन तिवारी, नारायण राम, किरन आर्य, पनुवाद्योखन ग्राम प्रधान बीरबल, ललित उप्रेती, जमनराम, महिला एकता मंच की सरस्वती जोशी, चिंताराम, चंद्रप्रकाश चौधरी, बसंत चौधरी, भगीरथ चौधरी, लालमणि, पान वोहरा, नरेश नौटियाल, किरन आर्य अल्मोड़ा, महेंद्र मेहता, बीडी नैनवाल, आनंदी वर्मा, श्यामलाल, गिरीश आर्य, गोपाल असनौड़ा, दिगंबर प्रसाद, बलजीत कुमार, प्रेम प्रकाश, ललित मोहन, धना देवी, पुष्पा देवी, गंगा, भावना देवी, शारदा देवी, बसंती देवी सहित सैकड़ों लोग शामिल रहे।

इस दौरान भतरौजखान, द्वाराहाट, रानीखेत थाने के साथ ही अल्मोड़ा जिला मुख्यालय से भी भारी पुलिस बल सुरक्षा के लिहाज से भिक्यासैंण में मौजूद रहा।

Next Story

विविध