Top
राष्ट्रीय

असदुद्दीन ओवैसी का अमित शाह को खुला चैलेंज, आज शाम तक वोटर लिस्ट में 1000 रोहिंग्या का बता दें नाम

Janjwar Desk
24 Nov 2020 7:21 AM GMT
असदुद्दीन ओवैसी का अमित शाह को खुला चैलेंज, आज शाम तक वोटर लिस्ट में 1000 रोहिंग्या का बता दें नाम
x
हैदराबाद नगर निगम के चुनाव में भाजपा और ओवैसी अभूतपूर्व रूप से तीखी जुबानी जंग लड़ रहे हैं। मीडिया में उनके तीखे बयानों का इतना शोर है कि मूल मुद्दे गुम होते दिख रहे हैं...

जनज्वार। हैदराबाद नगर निगम के चुनाव में असदुद्दीन ओवैसी की एमआइएम और भारतीय जनता पार्टी के बीच तीखी जुबानी जंग जारी है। भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष व सांसद तेजस्वी सूर्या ने आरोप लगाया है कि हैदराबाद में वोटर लिस्ट में 30 हजार रोहिंग्या के नाम दर्ज हैं। इस पर एआइएमआइएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने यह सवाल पूछा है कि जब ऐसा हो रहा था तब क्या गृह मंत्री अमित शाह सोये हुए थे। इसके साथ ही ओवैसी ने यह भी चुनौती दी है मंगलवार शाम तक भाजपा वोटर लिस्ट में एक हजार रोहिंग्या का नाम भी सामने ला दे।

ओवैसी ने सोमवार को हैदराबाद में पूछा कि जब रोहिंग्या का नाम वोटर लिस्ट में दर्ज हो रहा था तब अमित शाह क्या कर रहे थे? क्या यह उनकी ड्यूटी नहीं थी कि वे यह देखंे कि 30 से 40 हजार रोहिंग्या के नाम कैसे दर्ज हो गएं? उन्होंने कहा कि भाजपा अगर ईमानदार है तो वह कम से कम एक हजार रोहिंग्या के नाम भी मंगलवार शाम तक सामने ला दें।


भाजपा युवा मोर्चा के प्रमुख तेजस्वी सूर्या ने सोमवार को चुनाव प्रचार के दौरान ओवैसी पर जमकर हमला किया। उन्होंने कहा कि ओवैसी को दिया गया एक-एक वोट भारत के खिलाफ है। उन्होंने ओवैसी को आधुनिक जिन्ना बताया। तेजस्वी ने कहा कि ये लोग पुराने हैदराबाद का विकास नहीं कर पाए और विकास की बात करते हैं। इन्हें विकास नहीं रोहिंग्या पसंद हैं और जिन्ना की तरह ये अलगाववाद व कट्टरपंथ की भाषा बोलते हैं।

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम के लिए एक दिसंबर को वोट पड़ना है। निगम की 150 सीटों के चुनाव के जरिए भाजपा अपना इस दक्षिणी राज्य में आधार बढाना चाहती है। चुनाव में ओवैसी की एमआइएम, मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की टीआरएस व भाजपा एवं कांग्रेस चार प्रमुख खिलाड़ी हैं। हालांकि भाजपा की स्थिति अपेक्षाकृत कमजोर है, लेकिन वह इस चुनाव के जरिए अपना आधार बढाना चाहती है।

Next Story

विविध

Share it