Top
बिहार

बिहार में आकाशीय बिजली गिरने से आज 83 लोगों की मौत, कई लोगों की हालत गंभीर

Janjwar Desk
25 Jun 2020 2:23 PM GMT
बिहार में आकाशीय बिजली गिरने से आज 83 लोगों की मौत, कई लोगों की हालत गंभीर
x
file photo
बिहार के कई जिलों में 25 जून को सुबह से ही बारिश हो रही है, आज आकाशीय बिजली गिरने से 83 लोगों की मौत हो चुकी है, मौसम विभाग ने जारी कर दिया है हाई अलर्ट...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार के कई जिलों में गुरुवार 25 जून को सुबह से ही बारिश हो रही है। इसी बीच हुए वज्रपात से राज्यभर में 83 लोगों की मौत हो गई है। कई लोग झुलस गए हैं, जिनका अस्पतालों में इलाज चल रहा है। इनमें से भी कई की स्थिति गंभीर बताई जा रही है।

मौसम विभाग द्वारा 25 जून को संध्या 4 बजे मौसम विभाग द्वारा अगले 72 घंटों के लिए राज्य के अधिसंख्य जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश और वज्रपात की चेतावनी जारी कर दी गई है। इस चेतावनी में पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, सारण,सीवान, गोपालगंज, समस्तीपुर, मुक्फरपुर,अररिया,सुपौलमधुबनी,सहरसा,अररिया

पूर्णिया,मधेपुरा, किशनगंज, कटिहार आदि जिलों के लिए जारी की गई है। अलर्ट में कहा गया है कि भारी बारिश से नदियों के जलस्तर में वृद्धि और वज्रपात आदि हो सकती है।

25 जून की संध्या 6.30 बजे तक वज्रपात से बिहार के विभिन्न जिलों में 83 लोगों की मृत्यु हो गई है। राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गोपालगंज जिले में सर्वाधिक 13 लोगों की मौत हुई है। इसके अतिरिक्त नवादा और मधुबनी में 8-8, सीवान और भागलपुर में 6-6, पूर्वी चंपारण,दरभंगा और बांका में 5-5, खगड़िया और औरंगाबाद में 3-3 लोगों की मौत वज्रपात से हो गई है।


वहीं पश्चिम चंपारण,किशनगंज, जहानाबाद, जमुई, पूर्णिया, सुपौल, बक्सर और कैमूर में 2-2 लोगों की मौत हो गयी है। जबकि समस्तीपुर, शिवहर, सरन, सीतामढ़ी और मधेपुरा जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से 1-1 व्यक्ति की मौत हो गई है। आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जिलों से दूरभाष से मिली सूचना के आधार पर यह बताया गया है।

23 जून को ही बिहार के डेढ़ दर्जन जिलों के लिए अलर्ट जारी किया गया था। अगले दो दिनों के लिए जारी की गई इस चेतावनी में बिहार के डेढ़ दर्जन जिलों में भारी बारिश,वज्रपात और आंधी की संभावना जताई गई थी।

अभी धान की रोपनी का सीजन चल रहा है। बताया जा रहा है कि बारिश के बीच लोग धान की रोपनी और बिचड़े उखाड़ने के लिए खेतों में गए थे। इसी बीच बारिश के बीच विभिन्न स्थानों पर वज्रपात हो गया। हालांकि बिहार सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बिहार में वज्रपात की चेतावनी देने के लिए लेटेस्ट टेक्नोलॉजी का ऐप बनाया गया है। इस ऐप पर भी एक निर्धारित समय पर वज्रपात की चेतावनी जारी की गई थी।

जिलों से प्राप्त सूचना के अनुसार वज्रपात से घायल कुछ लोगों का विभिन्न जिला अस्पतालों में इलाज भी चल रहा है। उधर मृतकों के परिजनों में हाहाकार मचा हुआ है।


बिहार में नदियों के जलस्तर में भी लगातार वृद्धि दर्ज की जा रही है। इस स्थिति में भारी बारिश से हालात और खराब हो सकते हैं। किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए सरकार द्वारा कई जिलों में NDRF और SDRF की टीमें तैनात कर दीं गईं हैं। तटबंधों पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। इसके लिए विभागीय इंजीनियरों और पुलिस प्रशासन को लगाया गया है।

Next Story

विविध

Share it