Top
बिहार

रेल फैक्ट्री में ब्लास्ट, स्टीम से 4 कर्मचारी घायल, गर्म लोहे का अवशेष गिराने के दौरान हुआ हादसा

Janjwar Desk
1 July 2020 3:37 PM GMT
रेल फैक्ट्री में ब्लास्ट, स्टीम से 4 कर्मचारी घायल, गर्म लोहे का अवशेष गिराने के दौरान हुआ हादसा
x
बिहार के सारण जिला के दरियापुर प्रखंड के बेला गांव में यह रेल पहिया कारखाना है, ब्लास्ट काफी जोरदार बताया जाता है.....

जनज्वार ब्यूरो,पटना। सारण जिला के दरियापुर स्थित रेल पहिया कारखाना में निर्माण कार्य के दौरान अचानक ब्लास्ट हो गया। 1 जुलाई की संध्या हुए इस ब्लास्ट में स्टीम की चपेट में आकर वहां काम कर रहे चार कर्मी घायल हो गए। ब्लास्ट की आवाज काफी तेज थी और कई किलोमीटर दूर तक सुनाई दी। दो घायलों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है, जिन्हें बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया गया है।

घटना को लेकर अबतक प्राप्त जानकारी के अनुसार कारखाने में गर्म मेटेरियल के क्रेन से नीचे गिर जाने से बने भाप से जोरदार धमाका हुआ।ब्लास्ट के बाद अफरा-तफरी का माहौल बन गया।ब्लास्ट इतना जोरदार था कि कारखाना का शेड भी क्षतिग्रस्त हो गया। स्थानीय लोगों के अनुसार ब्लास्ट की आवाज 3 किलोमीटर दूर तक सुनी गई है।

सारण जिला के दरियापुर प्रखंड के बेला में रेलवे की विशाल फैक्ट्री है। इस फैक्ट्री में रेल कोच के पहियों का निर्माण किया जाता है। फैक्ट्री अभी 4-5 वर्ष पहले ही कार्यरूप में आई है। तत्कालीन रेलमंत्री लालू प्रसाद के कार्यकाल में यह फैक्ट्री सारण जिला को मिली थी। तब वे सारण से ही सांसद थे।

विस्फोट में प्लांट के चार कर्मी घायल हैं। घायलों में सीनियर सेक्शन इंजीनियर प्रमोद कुमार,क्रेन ऑपरेटर अमित कुमार व ठीकेदार के दो कर्मी राजेन्द्र गिरी व बशिष्ठ राय शामिल हैं। प्राथमिक उपचार के बाद सीनियर सेक्शन इंजीनियर प्रमोद कुमार व क्रेन ऑपरेटर अमित कुमार को गम्भीर स्थिति में पटना के फोर्ड अस्पताल में भेजा गया है।

कारखाना के कर्मियों के अनुसार भठ्ठी से गर्म मैटेरियल्स को क्रेन से पहिया ढलाई वाले स्थान पर ले जाया जा रहा था। तभी तकनीकी गड़बड़ी के कारण गर्म मैटेरियल्स नीचे गिर गया, जहाँ बरसात का पानी लगा हुआ था। इस कारण मैटेरियल भाप बन कर ऊपर उड़ा, जिससे जोरदार धमाका हुआ।वैसे घटना के कारणों की अभी जांच पड़ताल चल ही रही है। घटना की पुष्टि प्लांट के सेक्रेटरी उत्तम कुमार ने की है।

घटना के संबंध में बेला रेल पहिया कारखाना के मुख्य प्रशासनिक अधिकारी शुभ्रांशु ने बताया कि लोहे के पहिए की ढलाई से बचे गर्म लोहे के अवशेष को गिराया जा रहा था। उक्त जमीन पर बरसात का पानी लगने के कारण काफी मात्रा में भाप बनने लगा। आसपास काफी धुआं होने से अफरातफरी मच गयी।

इसकी चपेट में आने से दो लोग घायल हुए हैं। उन्हें इलाज कराने के बाद घर भेज दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

Next Story

विविध

Share it