बिहार

बिहार के गोपालगंज की एक बारात में खाने के लिए मछली का सिर ना परोसने पर खूनी संघर्ष, एक दर्जन घायल

Janjwar Desk
12 Jun 2021 6:42 AM GMT
बिहार के गोपालगंज की एक बारात में खाने के लिए मछली का सिर ना परोसने पर खूनी संघर्ष, एक दर्जन घायल
x

बिहार में बारात के भोजन में मछली का सिर खाने में ना परोसने को लेकर खूनी संघर्ष.

गुरुवार 10 जून की रात भोरे थाना क्षेत्र के सिसइ टोला के भटवलिया में छठू गोंड के यहां बारात आई थी। शादी-समारोह में खिलाने के लिए मछली-चावल का इंतजाम किया गया था। सदर अस्पताल में इलाज कराने पहुंचे घायल सुदामा गोंड के अनुसार उनका बेटा राजू गोंड और मुन्ना गोंड मछली परोस रहा था...

जनज्वार ब्यूरो, पटना। बिहार के गोपालगंज से हैरतअंगेज मामला सामने आया है। यहां के भोरे थाना क्षेत्र स्थित सिसइ टोला के भटवलिया में गुरुवार की रात भोज में मछली का सिर नहीं परोसने के चलते खूनी झड़प हो गई। घटना में दोनों पक्षों के एक दर्जन लोग घायल हुए हैं। घायलों को इलाज के लिए भोरे रेफरल अस्पताल और सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

घटना के बाद दोनों पक्षों में तनाव व्याप्त है। पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों के घायलों का अलग-अलग बयान दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। बताया जा रहा है कि गुरुवार 10 जून की रात भोरे थाना क्षेत्र के सिसइ टोला के भटवलिया में छठू गोंड के यहां बारात आई थी। शादी-समारोह में खिलाने के लिए मछली-चावल का इंतजाम किया गया था। सदर अस्पताल में इलाज कराने पहुंचे घायल सुदामा गोंड के अनुसार उनका बेटा राजू गोंड और मुन्ना गोंड मछली परोस रहा था।

इसी बीच पड़ोसी अजय गोंड और अभय गोंड अपने जानने वाले मेहमानों को लेकर आए और उन्हें खिलाने के लिए बैठा दिया। खाने के लिए बैठे लोगों को पहले राउंड में दो-दो पीस मछली दिया गया, जिसके बाद मछली के सिर की फरमाइश की गई। मछली का सिर नहीं दिए जाने पर राजू गोंड और मुन्ना गोंड की पिटाई की जाने लगी।

इस बीच छठू गोंड समेत अन्य लोग पहुंचे, तब तक दोनों पक्ष के बीच कुर्सियां चलने लगीं। बरात में खाने को लेकर हुए इस झड़प में एक पक्ष से अजय गोंड, अभय गोंड, राजा गोंड, हीरा लाल गोंड, सुदामी देवी और दूसरे पक्ष से सुदामा गोंड, मुन्ना गोंड, अमित गोंड, राजू गोंड और सरली देवी घायल हो गए हैं।

पड़ोसियों की मदद से एक पक्ष के घायलों को रेफरल अस्पताल भोरे और दूसरे पक्ष के घायलों को सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। इस घटना के बाद बारात में अफरा-तफरी मच गई। स्थानीय थाने की पुलिस को इसकी सूचना दी। लोगों की पहल पर दोनों पक्ष के झड़प को शांत कराया गया। शुक्रवार 11 जून की सुबह इलाज कराने के बाद घायलों ने स्थानीय थाने में कार्रवाई के लिए शिकायत की।

मामले में हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार का कहना है कि पुलिस दोनों पक्षों के विवाद मामले की जांच कर रही है। अलग-अलग बयान दर्ज कर प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है।

Next Story

विविध

Share it