Top
बिहार

पटना के 'कोरोना वाली बारात' की होगी जांच, 103 लोग हुए थे पॉजिटिव और दूल्हे की हो गयी थी मौत

Janjwar Desk
2 July 2020 5:39 AM GMT
पटना के कोरोना वाली बारात की होगी जांच, 103 लोग हुए थे पॉजिटिव और दूल्हे की हो गयी थी मौत
x
पटना के पालीगंज के शादी समारोह के संक्रमण चेन की जांच एसडीओ करेंगे। अबतक 100 से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं,दूल्हे की हो चुकी है मौत.....

जनज्वार ब्यूरो,पटना। पटना के पालीगंज की 'कोरोना वाली बारात' में क्या तय नियमों का उल्लंघन किया गया था, इसकी जांच का आदेश दे दिया गया है। पटना के डीएम कुमार रवि ने एसडीओ को इसकी जांच का आदेश देते हुए शीघ्र रिपोर्ट मांगी है। 'जनज्वार' ने 30 जून को 'थोड़ी सी लापरवाही पड़ गयी भारी, 103 लोग हुए संक्रमित, दूल्हे की हो चुकी मौत' शीर्षक से इसकी विस्तृत रिपोर्ट प्रकाशित की थी।

संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए सामाजिक समारोह में अधिकतम 50 व्यक्ति की भागीदारी एवं सोशल डिस्टेंस के अनुपालन संबंधी बिंदुओं पर एसडीओ पालीगंज को मामले की जांच का आदेश दिया गया है। इसे लेकर नोटिस भी की जा सकती है। डीएम ने कहा है कि अगर शादी समारोह में मानक का उल्लंघन पाया गया तो सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

पालीगंज प्रखंड के डीहपाली निवासी एक व्यक्ति के शादी समारोह में शामिल होने वाले 103 से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। मामले की गंभीरता तथा कोरोना के संभावित खतरे को देखते हुए संपर्क में रहने वाले लोगों का त्वरित रूप से सैंपल कलेक्शन करने तथा जांच की कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है।

जानकारी के मुताबिक 19 जून के प्रारंभिक जांच में 105 व्यक्तियों का सैंपल कलेक्शन कर जांच की गई। 21 जून को इसकी रिपोर्ट आई। रिपोर्ट में 15 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए।

जिलाधिकारी ने मेडिकल टीम को इस मामले में सक्रिय एवं तत्पर होकर जांच का दायरा बढ़ाने का निर्देश दिया। इस प्रकार दूसरी बार कुल 259 व्यक्तियों के सैंपल एकत्र कर जांच की गई। 29 जून को आई रिपोर्ट में कुल 80 व्यक्ति पॉजिटिव पाए गए। इन व्यक्तियों को कोविड केयर सेंटर बिहटा एवं बामेती भेजा गया है।

जनज्वार ने 30 जून को अपनी रिपोर्ट में ग्रामीणों और सिस्टम दोनों की लापरवाही को लेकर तथ्य रखे थे। जनज्वार ने यह भी बताया था कि कोरोना काल में शादी जैसे समारोहों के आयोजन में जल्दबाजी और लापरवाही कितनी भारी पड़ सकती है।

बताया जाता है कि पटना के पालीगंज स्थित डीहपाली गांव निवासी एक युवक की विगत 15 जून को शादी हुई थी। युवक दिल्ली से हाल में ही निजी वाहन से आया था।

उसकी शादी के तीसरे दिन यानी 17 जून को पेट दर्द की शिकायत के बाद उसे निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया, जिसके बाद उसे पटना भेज दिया गया जहां उसकी मौत हो गयी थी। बाद में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मामले की छानबीन की और मृत युवक के स्वजनों सहित कोरोना संक्रमण की जांच के लिए करीब 300 से ज्यादा लोगों का सैंपल लिया गया। संक्रमित पाए जाने वाले गांव व मुहल्ले को चिन्हित कर सील कर दिया गया।

दूल्हे की मौत कोरोना से हुई है या किसी और बीमारी से,अब इसका पता लगाना भी अब संभव नही है, क्योंकि दूल्हे का अंतिम संस्कार किया जा चुका है। अंतिम संस्कार के एक हफ्ते बाद इलाके के लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।

गुड़गांव से आने के बाद मृत्यु होने के बावजूद बिना कोरोना जांच कराए उसका अंतिम संस्कार कैसे कर दिया गया, इस बिंदु पर भी जांच होगी। सिर्फ वरपक्ष के लोग ही संक्रमित पाए जा रहे हैं, कन्या पक्ष के नहीं। वरपक्ष ने जहां से सामान खरीदा था, वे किराना व सब्जी विक्रेता भी पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। लिहाजा दूल्हे के घरवालों से पूछताछ की जाएगी।

दुल्हन के पिता के अनुसार विवाह में दूल्हे की तबियत कुछ खराब थी। तब बताया गया था कि लूजमोशन के कारण थोड़ी कमजोरी महसूस हो रही है। इस घटना के बाद दुल्हन पक्ष के लगभग 100 लोगों की कोरोना जांच कराई गई। राहत की बात है कि अबतक हुए टेस्ट में दुलहन पक्ष का कोई भी कोरोना से ग्रसित नहीं पाया गया है। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। लेकिन वर पक्ष की तरफ से बारात में शामिल अधिकांश लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it