Top
दिल्ली

शर्मनाक : दिल्ली में 90 साल की बुजुर्ग से रेप, स्वाती मालीवाल हाइकोर्ट में आज करेंगी अपील

Janjwar Desk
9 Sep 2020 7:58 AM GMT
शर्मनाक : दिल्ली में 90 साल की बुजुर्ग से रेप, स्वाती मालीवाल हाइकोर्ट में आज करेंगी अपील
x

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने त्वरित कार्रवाई कर छह महीने में दोषी युवक को फांसी की सजा देने की मांग की है...

जनज्वार। दिल्ली में हैवानियत की सारी हदें लांघ दी गईं। एक 90 वर्षीया महिला को घर से अगवा कर उनसे बलात्कार किया गया। उन्होंने गिड़गिड़ा कर ऐसा करने से मना किया लेकिन हैवानों पर इसका कोई असर नहीं हुआ। इस शर्मनाक घटना को लेकर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल दिल्ली हाइकोर्ट में अपील दायर करेंगी कि फास्टट्रैक तरीके से दोषी को छह महीने के अंदर फांसी दी जाए।

दिल्ली के नजफगढ इलाके के रेवला खानपुर गांव की 90 वर्षीया महिला के साथ इस खौफनाक घटना को एक 33 वर्षीय युवक सोनू ने अंजाम दिया। वह युवक गिरफ्तार कर लिया गया है। उसने वृद्धा के साथ मारपीट की जिससे उनके शरीर पर गंभीर चोट लगी है। जब वह युवक यह कुकृत्य कर रहा था तो बुजुर्ग महिला की आवाज सुन कर कुछ लोग मौके पर पहुंचे और इसकी सूचना पुलिस को। पुलिस ने आरोपी को वहीं पर गिरफ्तार कर लिया।


पीड़ित वृद्धा के बयान पर आरोपी युवक की गिरफ्तारी हुई है। पुलिस ने बताया है कि वृद्धा रेवला खानपुर गांव में अपने परिवार के साथ रहती हैं। सोमवार शाम वे अपने घर के बाहर बैठी थीं और दूर वाले का इंतजार कर रही थीं। तभी सोनू वहां आया और कहा कि आज दूधवाला नहीं आएगा खुद ही उसके पास दूध लेने जाना होगा। उसने वृद्ध महिला से कहा कि वह उन्हें दूध वाले के पास लेकर चलने को तैयार है। इसके बाद वह उन्हें रेवला खानपुर फार्म में लग गया और वहां बलात्कार किया। विरोध करने पर उनसे मारपीट की।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाती मालीवाल ने कहा कि दिल्ली में 90 साल की महिला को एक 33 साल का युवक जबरदस्ती उठाकर ले गया और उनके साथ बेरहमी से मारपीट की और बार-बार रेप किया। अम्मा बार.बार युवक से गिड़गिड़ाती रहीं कि उनको छोड़ दे लेकिन उसने नहीं सुनी। उन्होंने कहा कि मामले में एफआइआर दर्ज हो गई है और उसे गिरफ्तार ​कर लिया है।

स्वाती मालीवाल ने कहा कि वे यह घटना यह सवाल उठाती है कि दिल्ली और देश में न तो 6 महीने की बच्ची सुरक्षित है और न 90 साल की महिला।​ उन्होंने कहा कि वे आज उपराज्यपाल और हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस से अपील करेंगी और पत्र लिखेंगी कि इस मामले में छह महीने में सुनवाई पूरी कर फांसी हो।

Next Story

विविध

Share it