दिल्ली

Jahangirpuri Tiranga Rally: हिंसा के बाद दिल्ली की जहांगीरपुरी से अमन का संदेश, तिरंगा लेकर सड़क पर उतरे हिंदू-मुस्लिम

Janjwar Desk
24 April 2022 10:35 PM GMT
Jahangirpuri Tiranga Rally: हिंसा के बाद दिल्ली की जहांगीरपुरी से अमन का संदेश, तिरंगा लेकर सड़क पर उतरे हिंदू-मुस्लिम
x

Jahangirpuri Tiranga Rally: हिंसा के बाद दिल्ली की जहांगीरपुरी से अमन का संदेश, तिरंगा लेकर सड़क पर उतरे हिंदू-मुस्लिम

Jahangirpuri Tiranga Rally: देश की राजधानी दिल्ली के जहांगीरपूरी (Jahangirpuri) में हुई हिंसा को सांप्रदायिक रंग देने वालों को हिंदू और मुस्लिम समाज (Hindu and Muslim society) ने बड़ा संदेश दिया है।

Jahangirpuri Tiranga Rally: देश की राजधानी दिल्ली के जहांगीरपूरी (Jahangirpuri) में हुई हिंसा को सांप्रदायिक रंग देने वालों को हिंदू और मुस्लिम समाज (Hindu and Muslim society) ने बड़ा संदेश दिया है। यहां आज शाम छह बजे से तिरंगा यात्रा (tiranga yatra) निकाली गई। इसमें हिंदू-मुसलमानों (Hindu and Muslim ) ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। लोगों ने हाथों में तिरंगा थामकर आपसी भाईचारे की मिसाल कायम की है।

देशभक्ति गीतों के के साथ-साथ भारत माता की जय (Bharat Mata Ki Jai) के जमकर नारे लगाए। इसके साथ ही लोगों ने तिरंगा यात्रा पर फूल भी बरसाए। इस यात्रा में अनुमति के अनुसार कुल 50 लोग ही शामिल हुए. जिसमें 25 हिंदू और 25 मुस्लिम समाज के थे। यात्रा कुशल चौक से शुरू होकर ब्लॉक बी, बीसी बाजार, मस्जिद, मंदिर, जी ब्लॉक, कुशल चौक, भूमि घाट से होकर आजाद चौक पर आ कर खत्म हुई। 9 अप्रैल को हनुमान जयंती पर यहां हिंसा हुई थी।

घटना के बाद माहौल गरमा गया था। हालांकि हिंसा के एक हफ्ते बाद जहांगीरपुरी की गलियों में जनजीवन धीरे-धीरे पटरी पर आ रही है। वही शनिवार की शाम को स्थानीय शांति समिति के प्रतिनिधि अमन समिति ने दोनों समुदायों के बीच भाईचारे का संदेश देते हुए एक-दूसरे से मुलाकात की और गले मिले। अमन समितियों का गठन 1980 के दशक में किया गया था ताकि राष्ट्रीय राजधानी में सभी धार्मिक समारोह एक समुदाय की भावनाओं को आहत किए बिना हो सकें।

16 अप्रैल को जहांगीरपुरी में हुए थे दंगे

समिति में पुलिस अधिकारी, राजनीतिक दलों के सदस्य और विभिन्न समुदायों के प्रमुख निवासी शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक, 16 अप्रैल को जहांगीरपुरी इलाके में हनुमान जयंती के जुलूस के दौरान गंभीर सांप्रदायिक झड़पें हुई, जिसमें 8 पुलिसकर्मियों सहित 9 लोग घायल हो गए थे। पुलिस अब तक दो किशोरों समेत 25 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि गिरफ्तार व्यक्ति के एक रिश्तेदार को पुलिस इंस्पेक्टर पर पथराव कर घायल करने का आरोप लगाया गया है।

Next Story

विविध