दिल्ली

सिंघू बॉर्डर पर बवाल में शामिल व्यक्ति की फोटो अमित शाह के साथ आयी सामने, सोशल मीडिया पर वायरल

Janjwar Desk
29 Jan 2021 3:05 PM GMT
सिंघू बॉर्डर पर बवाल में शामिल व्यक्ति की फोटो अमित शाह के साथ आयी सामने, सोशल मीडिया पर वायरल
x
दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर शुक्रवार को आंदोलनकारी किसानों पर पत्थरबाजी और लाठीचार्ज किया गया। साथ ही आंसू गैसे के गोले भी छोड़े गए थे।

जनज्वार/ नई दिल्ली। गाजीपुर बॉर्डर में किसानों का आंदोलन हर घण्टे तेज होता जा रहा है वहीं दूसरी तरफ भाजपा और उनके समर्थकों में छटपटाहट बढ़ती जा रही है जिसके चलते नित नए प्रयोजन किये और कराए जा रहे हैं। कृषि बिलों के खिलाफ जारी किसानों के आंदोलन में एक बार फिर संघर्ष हुआ है। गाजीपुर बॉर्डर पर पुलिस की मौजूदगी में नकाबपोशों ने किसानों पर पत्थर फेंके और पुलिस मूकदर्शक बनी देखती रही। इससे पहले सुबह सिंघू बॉर्डर पर हुए बवाल में शामिल व्यक्ति की फ़ोटो गृहमंत्री अमित शाह के साथ वायरल हो रही है।

दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर आज शुक्रवार 29 जनवरी की सुबह किसान प्रदर्शनकारियों और स्थानीय प्रदर्शनकारियों के बीच बवाल हुआ। दोनों गुटों के बीच पत्थरबाजी हुई और एक दूसरे पर हमला भी किया गया। बताया जा रहा है कि स्थानीय प्रदर्शनकारी आज शुक्रवार सुबह से ही किसान आंदोलनकारियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे और हाईवे खाली कर देने की मांग कर रहे थे।

इस मामले में राष्ट्रीय जनता दल ने अपने ऑफिसियल ट्विटर हैंडल से लगातार दो ट्वीट किए। पहले ट्वीट में आरोप है कि 'सिंघू बॉर्डर पर आज दंगे फैलाने की कोशिश करने वाले दंगाई अमन डबास को देख लें। 26 जनवरी वाले दंगाई की फोटो आप देख चुके हैं। इनकी धर्मपत्नी बवाना से भाजपा पार्षद है। किसानों का अहिंसा का व्रत इतिहास लिख रहा है। शांत रहें शांति का दान दें। जय हिंद जय जवान जय किसान #मोदीकायरहै'

इसके बाद किये गए ट्वीट में राष्ट्रीय जनता दल ने एक वीडियो भी साझा किया है जो सिंघू बॉर्डर में हुए उपद्रव के दौरान का है। इस वीडियो में अमन डबास हाथों में तिरंगा लेकर नारे लगा रहा है और भीड़ को उकसा भी रहा है। ये वही अमन डबास है जिसकी पहले ट्वीट में अमित शाह के साथ फोटो है। आरजेडी ने ट्वीट में लिखा है कि 'जिसके आदमी के हाथ में तिरंगा में है वह भाजपा नेता है और भाजपाई पार्षद पति है। दंगाई भाजपाईयों अपनी गुंडागर्दी बंद करो।'

आपको बता दें कि आज शुक्रवार सुबह दोनों गुटों में जारी संघर्ष और पत्थरबाजी के दौरान पुलिस ने भी लाठीचार्ज किया और प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की। हालांकि, इस बवाल के बीच कई लोगों सहित पुलिसकर्मियों के भी घायल होने की खबर है। शाम को गाजीपुर में भी अराजकतत्वों द्वारा किये गए पथराव और तलवारबाजी में एक डीएसपी और एसएचओ घायल हो गया है। बावजूद इसके अज्ञात इशारों पर पुलिस मूकदर्शक बनी रही।

Next Story

विविध

Share it