Top
राष्ट्रीय

किसान आंदोलन में हिंसा भड़कने के बाद आलोचनाओं पर क्या बोले योगेंद्र यादव व राकेश टिकैत?

Janjwar Desk
26 Jan 2021 9:24 AM GMT
किसान आंदोलन में हिंसा भड़कने के बाद आलोचनाओं पर क्या बोले योगेंद्र यादव व राकेश टिकैत?
x
योगेंद्र यादव व राकेश टिकैत ने आइटीओ पर प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा को लेकर अपना पक्ष रखा है और कहा है कि उनका प्रदर्शन शांतिपूर्ण है और वे अन्य साथियों से ऐसी ही अपील करते हैं...

जनज्वार। मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ मंगलवार को किसानों ने सुबह किसान गणतंत्र परेड निकाला। इसको लेकर प्रमुख किसान नेताओं व आंदोलन की अगुवाई करने वालों ने शामिल लोगों से पुलिस द्वारा दिए गए रूट का पालन करने व कानून व्यवस्था को बनाए रखने की अपील की थी। इसके बावजूद आंदोलन हिंसक हो गया। आंदोलन में झड़प तो दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर ही सुबह शुरू हो चुका था, लेकिन जब भीड़ का एक बड़ा दस्ता आइटीओ पर पहुंचा तो उसमें कई लोग बुरी तरह हिंसक हो गए।

आइटीओ पर पुलिस दल को भीड़ ने मारने के लिए दौड़ाया और दूर तक खदेड़ दिया। इस दौरान एकाध पुलिस वाले भीड़ की चपेट में आ गए लेकिन उसी भीड़ में शामिल कुछ समझदार व अमन पसंद लोगों ने उन्हें सुरक्षित पुलिस टीम के पास जाने दिया। इसके लिए अपने साथियों से ही उनकी कहासुनी भी हुई।

हालांकि इसके बाद सोशल मीडिया पर किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे योगेंद्र यादव व राकेश टिकैत की एक तबके द्वारा आलोचना शुरू की गयी। लोगों ने यह सवाल पूछना शुरू किया कि वे शांतिपूर्ण परेड के दावे के बाद भड़की हिंसा पर क्या कहेंगे। न्यूज एजेंसी एएनआइ की संपादक स्मिता प्रकाश ने भी तरह के सवाल पूछे।

इन सवालों के बीच योगेंद्र यादव और राकेश टिकैत की प्रतिक्रिया आयी है। योगेंद्र यादव ने कए न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कहा है कि उन्हें नहीं पता है क वास्तव में वहां क्या हुआ है, क्योंकि वे शाहजहांपुर परेड में है। उन्होंने अपील की कि किसान नेता व किसान समूह पुलिस द्वारा तय किए गए रूट का पालन करें और उसका उल्लंघन नहीं करें। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्ण स्थिति में किसान जीत सकते हैं इसलिए हम सब इसे शांतिपूर्ण बनाए रखें। उन्होंने कहा कि वे जिस परेड में शामिल हैं वह बहुत शांतिपर्ण है।

वहीं, राकेश टिकैत ने इससे संबंधित सवालों पर कहा कि उनका प्रदर्शन शांतिपूर्ण है और हिंसा भड़कने को लेकर उन्हें कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने कहा कि वे गाजीपुर बाॅर्डर पर हैं और यहां से ट्रैफिक को रिलीज कर रहे हैं। राकेश टिकैत ने यह भी कहा है कि राजनीतिक पार्टियों के लोग किसान आंदोलन में शामिल होकर गड़बड़ियां कर रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it