राष्ट्रीय

Firozabad News : मेस के खाने को लेकर जिस सिपाही ने खोली योगी प्रशासन की पोल, उसे ही पागल साबित करने में लगे अधिकारी

Janjwar Desk
19 Aug 2022 7:37 AM GMT
Firozabad News : मेस के खाने को लेकर जिस सिपाही ने खोली योगी प्रशासन की पोल, उसे ही पागल साबित करने में लगे अधिकारी
x

Firozabad News : मेस के खाने को लेकर जिस सिपाही ने खोली योगी प्रशासन की पोल, उसे ही पागल साबित करने में लगे अधिकारी

Firozabad News : फिरोजाबाद के जिस सिपाही ने योगी के प्रशासन और पुलिस लाइन के मेस में मिलने वाली घटिया खाने की पोल खोली थी, अब उसी सिपाही को अधिकारी और योगी आदित्यनाथ की सरकार पागल ठहराने की कोशिश में लगी हुई हैं...

Uttar Pradesh News : उत्तर प्रदेश के जनपद में सिपाही मनोज कुमार (Firozabad Constable Manoj Kumar) ने पुलिस लाइन के मैस में घटिया भोजन देने पर 10 अगस्त को हंगामा कर दिया। बता दें कि फिरोजाबाद के जिस सिपाही ने योगी के प्रशासन और पुलिस लाइन के मेस में मिलने वाली घटिया खाने की पोल खोली थी, अब उसी सिपाही को अधिकारी और योगी आदित्यनाथ की सरकार पागल ठहराने की कोशिश में लगी हुई हैं।

सिपाही मनोज कुमार को पागल साबित करने की कोशिश

उत्तर प्रदेश के जनपद में जिस सिपाही ने पुलिसकर्मी ने विभाग के उच्चाधिकारियों पर उत्पीड़न का आरोप लगाया है। मनोज कुमार का कहना है कि अधिकारियों ने उसे पागल घोषित करने की कोशिश की थी और उसके बयान की कॉपी भी उसको नहीं दी गई है। वहीं अब सोशल मीडिया पर भी सवाल उठाए जा रहे हैं कि योगी सरकार में सच बोलने वालों को पागल साबित करने की कोशिश हो रही हैं।

सिपाही ने रो-रोकर किया था अपना दर्द बयां

बता दें कि फिरोजाबाद पुलिस लाइन (Firozabad Police Line) में तैनात सिपाही मनोज कुमार की ड्यूटी जनपद न्यायालय के सम्मन सेल में लगी है। इस सिपाही ने चार दिन पहले जमकर हंगामा किया था। बता दें, कि सिपाही मनोज कुमार पुलिस लाइन के मैस में मिलने वाले भोजन की गुणवत्ता से नाराज था। उसने बताया कि भोजन में मिली दाल में केवल पानी ही था और रोटियां कच्ची और सूखी थी। सिपाही ने मीडिया के सामने रोकर अपना दर्द बयां किया।

सिपाही की शिकायत पर उच्चाधिकारी नहीं कर रहे हैं सुनवाई

सिपाही मनोज कुमार (Firozabad Constable Manoj Kumar) ने पुलिस लाइन से हाइवे तक 10 अगस्त को हंगामा किया और उच्चाधिकारियों पर आरोप लगाया कि उसके शिकायत करने के बाद भी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। यहां तक की सिपाही को उसके बयान की कॉपी सीओ सिटी के मुंशी ने नहीं दी है और उसे उल्टा ही अधिकारी बर्खास्त करने की धमकी दे रहे हैं। सिपाही के हंगामे के बाद एसएसपी ने भोजन की गुणवत्ता की जांच सीओ सिटी और सिपाही के आचरण की जांच सीओ लाइन को सौंपी थी।

Next Story

विविध