राष्ट्रीय

Gorakhpur Manish Gupta Death Case: अखिलेश के आने के पहले मनीष गुप्ता की पत्नी को ले जा रही थी पुलिस, भिड़ गए सपा कार्यकर्ता

Janjwar Desk
30 Sep 2021 5:46 AM GMT
Gorakhpur Manish Gupta Death Case: अखिलेश के आने के पहले मनीष गुप्ता की पत्नी को ले जा रही थी पुलिस, भिड़ गए सपा कार्यकर्ता
x
Gorakhpur Manish Gupta Death Case: समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव कानपुर में पीड़ित परिवार से मुलाकात करने जा रहे हैं। लेकिन इससे पहले ही यहां पर विवाद हो गया है..

Gorakhpur Manish Gupta Death Case: कानपुर के व्यवसायी मनीष गुप्ता की गोरखपुर में संदिग्ध मौत को लेकर आज गुरुवार को पूर्व सीएम अखिलेश यादव कानपुर आ रहे हैं। समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव कानपुर में पीड़ित परिवार से मुलाकात करने जा रहे हैं। लेकिन इससे पहले ही यहां पर विवाद हो गया है। आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, मृतक मनीष गुप्ता के घर के बाहर समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का हुजूम लगा हुआ है।

लेकिन अखिलेश यादव के आने से पहले ही स्थानीय पुलिस मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी को अपने साथ ले जा रही है। सपा कार्यकर्ताओं द्वारा इसका विरोध किया जा रहा है और पुलिस वालों के साथ बहस हो रही है।

सपा प्रमुख और पूर्व सीएम अखिलेश यादव (Akhilesh yadav) आज कानपुर आनेवाले हैं। अखिलेश यादव कानपुर में मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी से मुलाकात करेंगे। इसके अलावा सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) भी मनीष के परिजनों से मुलाकात कर सकते हैं।

इससे पहले यूपी के पूर्व मुख्‍यमंत्री और एसपी सुप्रीमो अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, 'गोरखपुर में पुलिस की बर्बरता ने एक युवा व्यापारी की जान ले ली। ये बहुत ही दुखद और निंदनीय है। उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार ने एनकाउंटर की जिस हिंसक संस्कृति को जन्म दिया है, ये उसी का दुष्परिणाम है। संलिप्त लोगों पर हत्या का मुक़दमा चले और उत्तर प्रदेश को हिंसा में धकेलनेवाले इस्तीफ़ा दें।'

बता दें कि सीएम आज कानपुर का दौरा करने वाले हैं। योगी ने पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपये मुआवजे का एलान भी किया है। साथ ही मुख्‍यमंत्री ने परिजनों को निष्‍पक्ष जांच का आश्‍वासन भी दिया है।

वहीं, अखिलेश यादव के पहुंचने के पहले पुलिस द्वारा मृत व्यवसायी की पत्नी को ले जाए जाने की कोशिश की जा रही थी। इसके बाद समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं के विरोध के बीच पुलिस एक बार फिर मीनाक्षी को घर के अंदर ले गई है। पुलिस का कहना है कि मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी को दवा दिलाने के लिए ले जा रहे थे, लेकिन घर के बाहर जारी विरोध के बाद उन्हें अंदर वापस जाने दिया।

इससे पहले बीती शाम सपा के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने कैंडल मार्च निकालकर मनीष गुप्ता को श्रद्धां‍जलि दी थी। सपा नेताओं ने इस मामले की सीबीआई जांच कराने के साथ दोषियों की गिरफ्तारी की मांग की। इसके साथ ही मृतक की पत्‍नी को नौकरी और एक करोड़ रुपए का मुआवजा भी देने की मांग की।

Next Story

विविध

Share it