राष्ट्रीय

Gorakhpur News : मलबे में तब्दील 1 करोड़ का घर, मनीष गुप्ता हत्याकांड के मुख्यारोपी इंस्पेक्टर के घर पर चला बाबा का बुलडोजर

Janjwar Desk
4 April 2022 5:58 AM GMT
Gorakhpur News : मलबे में तब्दील 1 करोड़ का घर, मनीष गुप्ता हत्याकांड के मुख्यारोपी इंस्पेक्टर के घर पर चला बाबा का बुलडोजर
x

Gorakhpur News : मलबे में तब्दील 1 करोड़ का घर, मनीष गुप्ता हत्याकांड के मुख्यारोपी इंस्पेक्टर के घर पर चला बाबा का बुलडोजर

Gorakhpur News : गोरखपुर में इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह के घर पर बीते रविवार को बुलडोजर चला दिया गया...

Gorakhpur News : योगी सरकार 2.O की शुरुआत के बाद से ही बाबा का बुलडोजर एक्टिव मोड में आ गया है। 27 सितंबर, 2021 की रात को गोरखपुर (Gorakhpur) के होटल कृष्णा पैलेस में कानपुर (Kanpur) के व्यवसायी मनीष गुप्ता की हत्या के मुख्य आरोपी तत्कालीन इंस्पेक्टर जगत नारायण सिंह (Inspector Jitendra Narayan Singh) के लखनऊ आवास पर बीते रविवार 3 अप्रैल को बुलडोजर चला दिया गया।

एडीजी (कानून और व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा, विध्वंस कानूनी तरीके से किया जाता है, कानूनी नोटिस देने के बाद ही अवैध निर्माण को तोड़ा जाता है। हम अतिक्रमण में शामिल किसी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।

बता दें कि ये कार्रवाई मनीष गुप्ता हत्याकांड (Manish Gupta Murder Case) के तहत नहीं हुई है बल्कि आरोपी इंस्पेक्टर ने इस घर को बिना नक्शा पास करवाए बनवाया था जिसपर संज्ञान लेते हुए ये कदम उठाया गया। एलडीए (LDA) के अधिकारियों की माने तो जगत नारायण ने अपने रसूख का इस्तेमाल करते हुए बिना नक्शे को पास कराए मकान बनवा लिया था।

सरायशेख, सतरिख रोड पर 900 वर्गफीट के बने इस मकान में 10 से ज़्यादा कमरे थे जिसे जगत नारायण ने किराये पर दे रखा था। इस मकान की कीमत करीब 1 करोड़ रुपये बतायी जा रही है। एलडीए के अधिकारियों के मुताबिक इस मकान का निर्माण बिना नक्शा पास कराए इंस्पेक्टर ने दबंगई के दम पर करवाया। जब इसकी पूरी जांच रिपोर्ट आई तो एलडीए ने रविवार को कार्रवाई की।

गौरतलब है कि इस अवैध निर्माण को स्वत: गिराने के लिए 3 मार्च को नोटिस दे दिया गया था लेकिन एक महीने तक जब नोटिस पर कोई कोई कार्रवाई नही हुई तो एलडीए ने ये कदम उठाया।

इस वक्त जगत नारायण पांच अन्य पुलिसकर्मियों के साथ जेल में बंद हैं। उसपर कानपुर के निर्दोष व्यापारी मनीष गुप्ता की निर्मम हत्या करने का आरोप है। 29 सितंबर 2021 को इस मामले में मनीष गुप्ता की पत्नी मीनाक्षी ने रामगढ़ताल थाने के तत्कालीन थाना प्रभारी जगत नारायण सिंह, दारोगा अक्षय मिश्र, राहुल दूबे, विजय यादव, मुख्य आरक्षी कमलेश यादव और आरक्षी प्रशांत पर मनीष गुप्ता की हत्या करने का मुकदमा दर्ज करवाया था।

Next Story

विविध