राष्ट्रीय

IT Raids : शिवसेना नेता यशवंत जाधव के यहां सबसे बड़ा छापा, इनकम टैक्स रेड में 41 संपत्तियां सीज

Janjwar Desk
8 April 2022 7:00 AM GMT
शिवसेना नेता यशवंत जाधव के यहां सबसे बड़ा छापा, इनकम टैक्स रेड में 41 संपत्तियां सीज
x

शिवसेना नेता यशवंत जाधव ।

IT Raids : आयकर विभाग ने यशवंत जाधव के ठिकानों पर छापेमारी कर उनके परिवार के सदस्यों और सहयोगियों की 41 संपत्तियां कुर्क की हैं।

IT Raids : शिवसेना नेता और बीएमसी की स्थायी समिति के पूर्व अध्यक्ष यशवंत जाधव (Shiv Sena Leader Yashwant jadhav) के खिलाफ आयकर विभाग ( Income Tax Department) ने बड़ी कार्रवाई की है। आयकर विभाग ने कथित तौर पर जाधव के ठिकानों पर छापेमारी ( IT Raids ) कर उनके परिवार के सदस्यों और सहयोगियों की 41 संपत्तियां कुर्क ( Property Seized ) की हैं।

ताजा अपडेट के मुताबिक कुर्क की गई संपत्तियों में भायखला में बिलखडी चैंबर्स बिल्डिंग में 31 फ्लैट, बांद्रा में पांच करोड़ का एक फ्लैट और भायखला में होटल इंपीरियल क्राउन शामिल हैं। आयकर विभाग ने कुर्की की कार्रवाई आयकर अधिनियम की धारा 132 (9)बी के तहत की है।

कर चोर का आरोप

आयकर विभाग ( Income Tax Department ) के एक अधिकारी ने शु्क्रवार को कथित कर चोरी के मामले में शिवसेना नेता और बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) की स्थायी समिति के पूर्व अध्यक्ष यशवंत जाधव (Yashwant Jadhav) के 5 करोड़ रुपए के फ्लैट सहित 41 संपत्तियां कुर्क की हैं। कुर्क की गई संपत्तियों में भायखला में बिलखडी चैंबर बिल्डिंग में 31 फ्लैट, बांद्रा में 5 करोड़ रुपए का फ्लैट और भायखला में होटल क्राउन इंपीरियल शामिल हैं।

सभी संपत्तियां जाधव और परिवार के सदस्यों के नाम पंजीकृत

बताया जा रहा है कि यशवंत जाधव (Yashwant jadhav) ने बीएमसी (BMC) की स्थायी समिति के अध्यक्ष होने के दौरान सभी संपत्तियों के अधिग्रहण गैर कानूनी तरीके से किया था। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक कुर्क की गई सभी संपत्तियां यशवंत जाधव, उनके परिवार के सदस्यों और करीबी सहयोगियों के नाम पर पंजीकृत हैं। एक होटल का नाम शिवसेना विधायक और जाधव की पत्नी यामिनी जाधव की मां सुनंदा मोहिते के नाम पर है।

जाधव व अन्य को पूछताछ के लिए किया था तलब

आयकर विभाग ( Income Tax Department ) के अधिकारियों ने छापेमारी से पहले शिवसेना ( Shiv Sena ) नेता विलास मोहिते और विनीत जाधव के करीबी सहयोगियों को बयान दर्ज कराने के लिए तलब किया था, लेकिन उनमें से कोई भी तय समय पर पेश नहीं हुआ। विलास मोहिते यशवंत जाधव की बीएमसी ( BMC ) के काम की देखरेख करते थे। वहीं विनीत जाधव बिमल अग्रवाल की कंपनी न्यूजहॉक मल्टीमीडिया प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक थे। बता दें कि बिमल अग्रवाल वही शख्स हैं जिनका नाम परमबीर सिंह रंगदारी मामले में भी सामने आया था।

Next Story

विविध