Top
झारखंड

झारखंड के इस 'चार्ल्स शोभराज' ने लड़कियों को फांस कर की 8 शादियां, कार्डिनल के नाम पर की करोड़ों की ठगी

Janjwar Desk
24 Nov 2020 2:57 AM GMT
झारखंड के इस चार्ल्स शोभराज ने लड़कियों को फांस कर की 8 शादियां, कार्डिनल के नाम पर की करोड़ों की ठगी
x

प्रतीकात्मक तसवीर।

संजय कुजूर ने एक के बाद एक कई लड़कियों को धोखे में रख कर उनसे शादी की। वह ईसाई धर्म गुरु के नाम पर मोटी रकम की ठगी करने का भी आरोपी है...

जनज्वार। ठग और धोखेबाजों की कमी नहीं है। आपने अंतरराष्ट्रीय ठग चार्ल्स शोभराज के बारे में तो सुना-पढा ही होगा जिसने कई शादियां की और ठगी व मर्डर के लिए मशहूर रहा है। इसी तरह का एक शख्स झारखंड की राजधानी रांची में है। अंतर सिर्फ इतना है कि इस पर सिर्फ धोखे में कई शादियां करने व ठगी का आरोप है और शोभराज की तरह हत्या का कोई आरोप नहीं है। रांची के इस शख्स का नाम है संयज कुजूर।

संजय कुजूर ने आठ महिलाओं से शादी की और हर महिला से वह उसे धोखे में रख कर शादी करता था। जब उसकी एक पत्नी जूली को उसकी सच्चाई की जानकारी हुई तो उसने संयज कुजूर के खिलाफ थाने में एफआरआर दर्ज करायी। लेकिन, जब पुलिस के स्तर पर कोई कार्रवाई नहीं हुई तब उसने सोमवार को संजय कुजूर के घर पर जाकर हंगामा किया। संजय कुजूर रांची के बरियातू थाना क्षेत्र के डाॅ एचपी नारायण गली में शिवम अपार्टमेंट में रहता है और जूली वहीं सोमवार को पहुंची और जमकर हंगामा किया।

जूली ने कहा कि संजय कुजूर ने सिर्फ उसे ही धोखे में रख कर शादी नहीं की है, बल्कि कई महिलाओं को इस तरह उसने अपना शिकार बनाया है और जब उसे सच्चाई मालूम हुई तो उसके खिलाफ यहां पहुंची है। हालांकि संजय जब अपने घर पर नहीं था, जिसके जूली का गुस्सा और बढ गया और उन्होंने हंगामा किया।

जूली के आरोप के अनुसार, जब वह नाबालिग थी तभी से संजय कुजूर ने उससे रिश्ता रखा हुआ था और जब गर्भवती हुई तो उसने उसे शादी के लिए कहा और दबाव में वह इसके लिए तैयार हुआ। हालांकि शादी करने के बावजूद खुद के साथ नहीं रखता था। जूली का यह भी कहना है कि कोकर की एक महिला ने उसे संजय के पास बेच दिया था। उसने आरोप लगाया है कि कोकर की एक महिला ने उसे संजय कुजूर के पास बेच दिया था। इसको लेकर थाने में एफआइआर दर्ज करायी गई है।

संजय कुजूर एक ठग है। उस पर कार्डिनल के नामों पर करोड़ों रुपये की ठगी का आरोप है।

जूली को जब पुलिस से मदद नहीं मिली तो सरना आदिवासियों के संगठन केंद्रीय सरना समिति उसकी मदद के लिए आगे आई। समिति ने कहा है कि वह जूली की मदद तब तक करेगी जब तक उसे इंसाफ नहीं मिल जाता।

Next Story

विविध

Share it