Top
झारखंड

झारखंड में अपराधियों ने 24 घंटे के अंदर गोली मार कर दो नेताओं की हत्या की

Janjwar Desk
20 Aug 2020 6:54 AM GMT
झारखंड में अपराधियों ने 24 घंटे के अंदर गोली मार कर दो नेताओं की हत्या की
x

धनबाद के मृत भाजपा नेता सतीश सिंह व रांची जिले के झामुमो नेता मदन साहू का शव।

झारखंड में अपराधियों की गोली के शिकार हुए एक नेता विपक्षी भाजपा के तो दूसरे सत्ताधारी झामुमो के हैं। कुछ ही दिन पहले लातेहार में भी एक भाजपा नेता की हत्या हुई थी...

जनज्वार, रांची। झारखंड में 24 घंटे के अंदर दो नेताओं की हत्या से हड़कंप मच गया है। पहली हत्या 19 अगस्त को धनबाद में भाजपा के एक नेता की हुई और उसके बाद रांची के मैकलुस्कीगंज थाना क्षेत्र में झामुमो के एक नेताओं को गोली मार दी गई। धनबाद में अपराधियों की गोली के शिकार हुए भाजपा नेता सतीश सिंह की मौके पर ही मौत हो गई, वहीं रांची के झामुमो नेता मदन साहू की रांची के रिम्स में इलाज के दौरान मौत हो गई। मदन साहू भी अपराधियों की गोली के शिकार हुए थे।

भाजपा नेता सतीश सिंह धनबाद के विधायक राज सिन्हा के करीबी सहयोगी व जमीन कारोबारी थे। केंदुआ मंडल उपाध्यक्ष 40 वर्षीय सतीश सिंह को बुधवार को उस वक्त विकास नगर मोड़ के पास गोली मारी गई जब वे अपनी बोलेरो गाड़ी से उतर कर श्री हरि रेसिडेंस अपार्टमेंट में किसी ने मिलने जा रहे थे। उसी दौरान घात लगाए अपराधियों ने गर्दन में गोली मार दी। अपराधी बाइक से आए थे और घात लगाए हुए थे।

इसके बाद अपार्टमेंट की एक महिला उन्हें लेकर पीएचसीएच गईं जहां डाॅक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना के अंदाम देने के बाद अपराधी मौके से भाग गए। दो बाइक से चार अपराधी उनकी हत्या करने आए थे। जिस जगह पर घटना घटी वहां सीसीटीवी लगा था, जिसके फुटेज के आधार पर पुलिस मामले की जांच कर रही है। पुलिस ने इस मामले में कई जगह छापेमारी की है।

वहीं, रांची के मैकलुस्कीगंज थाना क्षेत्र में झामुमो नेता मदन साहू को अज्ञात अपराधियों ने गोली मार दी थी, जिसके बाद उन्हें रिम्स ले जाया गया था। डाॅक्टरों ने उन्हें बचाने का भरसक प्रयास किया लेकिन गुरुवार को उनकी मौत हो गई। रांची के ग्रामीण एसपी मोहम्मद नौशाद ने कहा है कि इस मामले में अपराधियों की जल्द गिरफ्तारी होगी।

पिछले महीने भी हुई भी एक नेता की हत्या

इससे पहले लातेहार जिले के बरवाडीह में भाजपा नेता जयवर्द्धन सिंह की पांच जुलाई को अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी। लक्ष्मण सिंह की हत्या शाम में उस वक्त की गई थी जब वे बस स्टैंड के पास एक चाय दुकान पर बैठे थे। अपराधियों ने उन्हें भी पीठ व गर्दन में गोली मारी थी और भाग निकले थे। उनकी हत्या पर भाजपा ने कहा था कि हेमंत सोरेन सरकार के कार्यकाल में झारखंड में कानून व्यवस्था चरमरा गई है।

Next Story

विविध

Share it