Top
झारखंड

झारखंड : सीएम हेमंत सोरेन ने अपनी छोड़ी हुई दुमका विधानसभा सीट के लिए भाई बसंत सोरेन को बनाया उम्मीदवार

Janjwar Desk
1 Oct 2020 6:28 PM GMT
झारखंड : सीएम हेमंत सोरेन ने अपनी छोड़ी हुई दुमका विधानसभा सीट के लिए भाई बसंत सोरेन को बनाया उम्मीदवार
x

पिता शिबू सोरेन के साथ हेमंत सोरेन व बसंत सोरेन।

दुमका सीट के लिए आरंभ में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन के नाम की भी चर्चा थी, हालांकि बाद में यह लगभग तय हो गया था कि बसंत सोरेन ही वहां से उम्मीदवार होंगे...

जनज्वार, रांची। झारखंड की मुख्य सत्ताधारी पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा ने तीन नवंबर को होने वाले दुमका विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए बसंत सोरेन को उम्मीदवार बनाया है। बसंत सोरेन झामुमो के अध्यक्ष शिबू सोरेन के छोटे पुत्र व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के छोटे भाई हैं। बसंत सोरेन दुमका सीट से 12 अक्तूबर को पर्चा भरेंगे और इस दौरान झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन के प्रमुख नेता वहां उपस्थित रहेंगे।

हेमंत सोरेन पिछले साल के अंत में हुए विधानसभा चुनाव में बरहेट व दुमका दोनों सीटों से जीते थे। बाद में उन्होंने दुमका सीट छोड़ने का ऐलान किया। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के द्वारा दुमका सीट खाली किए जाने के बाद से ही यह तय माना जा रहा था कि दुमका सीट से झामुमो सोरेन परिवार से ही किसी शख्स को उम्मीदवार बनाएगा। एक संभावना यह भी व्यक्त की जा रही थी कि मुख्यमंत्री की पत्नी कल्पना सोरेन यहां से उम्मीदवार हो सकती हैं। हालांकि पार्टी ने आखिर में बसंत सोरेन की उम्मीदवारी पर फैसला लिया।

बसंत सोरेन झामुमो युवा शाखा के केंद्रीय अध्यक्ष हैं और संसदीय राजनीति में प्रवेश के लिए प्रतीक्षारत रहे हैं। बसंत की उम्मीदवार का ऐलान झामुमो महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने किया। सुप्रियो ने कहा कि वे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा दुमका सीट के लिए उम्मीदवार का नाम घोषित करने के लिए अधिकृत किए गए हैं। मालूम हो कि हेमंत सोरेन झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हैं और पार्टी के दिन-प्रतिदिन के कामकाज का वहीं संचालन करते हैं, जबकि अध्यक्ष के रूप में उनके पिता शिबू सोरेन संरक्षक की भूमिका में हैं।

सुप्रियो भट्टाचार्य ने यह भी उम्मीद जतायी है कि राज्य की एक और सीट बेरमो के लिए कांग्रेस जल्द से जल्द उम्मीदवार की घोषणा कर देगी। बोकारो जिले की बेरमो सीट कांग्रेस विधायक राजेंद्र प्रसाद सिंह के निधन के कारण रिक्त हुई है। राज्य में इन दो सीटों पर तीन नवंबर को उपचुनाव है। दोनों सीटें पिछली बार मौजूदा सत्ताधारी गठबंधन के दलों ने जीती थी, लेकिन भाजपा का दावा है कि वह इस बार इन दोनों सीटों पर कब्जा करेगी। झारखंड में यूं भी उपचुनाव की डगर सत्ताधारी दलों के लिए कठिन साबित होती रही है।

दुमका सीट से भाजपा की ओर से एक बार फिर पूर्व मंत्री लुईस मरांडी को उम्मीदवार बनाए जाने की संभावना है। रघुवर सरकार के मंत्री रही लुईस पिछला चुनाव हेमंत सोरेन से हार गईं थीं, हालांकि उन्होंने 2014 के चुनाव में हेमंत सोरेन को दुमका में चुनाव हराया था।

Next Story

विविध

Share it