कश्मीर

महबूबा मुफ्ती ने किया तंज-'एनकाउंटर में आतंकियों का मारा जाना बना केंद्र सरकार के जश्न का जरिया'

Janjwar Desk
28 Aug 2021 3:32 PM GMT
महबूबा मुफ्ती ने किया तंज-एनकाउंटर में आतंकियों का मारा जाना बना केंद्र सरकार के जश्न का जरिया
x

PDP अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने केंद्र पर तंज किया है (File pic.)

महबूबा मुफ्ती ने उनकी पार्टी के यूथ विंग की प्रस्तावित मीटिंग की अनुमति नहीं देने का आरोप लगाते हुए जम्मू कश्मीर पुलिस और केंद्र सरकार की तीखी आलोचना की है..

जनज्वार। जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री व पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने उनकी पार्टी के यूथ विंग की प्रस्तावित मीटिंग को अनुमति नहीं देने का आरोप लगाते हुए जम्मू कश्मीर पुलिस और केंद्र सरकार की तीखी आलोचना की है। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हर रोज एनकाउंटर में आतंकी मारे जा रहे हैं और यह केंद्र सरकार के लिए जश्न का जरिया बन गया है। हालिया दिनों में जम्मू-कश्मीर में कई कुख्यात आतंकवादियों को एनकाउंटर में ढेर किया गया है। हालिया दौर में अमूमन प्रतिदिन आतंकी मारे जा रहे हैं।

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की अध्यक्ष महबूबा ने आज शनिवार को ट्वीट कर आरोप लगाया कि पुलिस, पीडीपी की युवा ईकाई की मीटिंग अनंतनाग में नहीं होने दे रही। पुलिस यूथ विंग के सदस्यों से झगड़ा कर रही है। उन्होंने ट्विटर पर कुछ वीडियो और तस्वीर भी शेयर की हैं।

केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हम शांति और राजनीति के जरिए अपनी लड़ाई लड़ना चाहते हैं। पीडीपी हिंसा में विश्वास नहीं रखती। केंद्र सरकार सभी कश्मीरियों की ब्रांडिंग हिंसा करने वाले शैतान के रूप में कर रही है।

ट्विटर पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए महबूबा मुफ्ती ने लिखा, "पीडीपी की युवा इकाई को आज बिजबेहारा में बैठक करने की अनुमति नहीं मिली। मुफ्ती साहब की मजार के पास लगे दरवाजों को ब्लॉक कर दिया गया और कंटीली तारों से घेर दिया गया। क्या जम्मू कश्मीर पुलिस यह बता सकती है कि इन लोगों से वो क्यों झगड़ा कर रही है?"

महबूबा मुफ्ती ने आगे कहा कि पीडीपी यूथ विंग को बैठक ना करने देना भारत सरकार की रणनीति का हिस्सा है। वो यह नहीं चाहती है कि कश्मीरी युवा राजनीति में हिस्सा लें। हर रोज हो रहे एनकाउंटर में आतंकवादी मारे जा रहे हैं और यह केंद्र सरकार के लिए जश्न का जरिया बन गया है। लेकिन पीडीपी हिंसा में विश्वास नहीं रखती है।"

महबूबा ने एक और ट्वीट करते हुए लिखा, "हम शांति और राजनीति के जरिए अपनी लड़ाई लड़ना चाहते हैं। हम हिंसा में विश्वास नहीं करते हैं। हम राजनीतिक कार्यकर्ताओं को हतोत्साहित करने में विश्वास नहीं करते।' बता दें कि बैठक की इजाजत ना मिले पर युवा ईकाई के सदस्यों ने प्रदर्शन भी किया है।"

Next Story

विविध

Share it