कश्मीर

विरोधियों को नीचा दिखाने के लिए ईडी का दुरुपयोग कर रही सत्ताधारी पार्टी - महबूबा मुफ्ती

Janjwar Desk
31 Dec 2020 3:48 PM GMT
Taj Mahal Controversy : दम है तो ताजमहल को मंदिर बनाकर दिखा दो, भाजपा सरकार को महबूबा मुफ्ती का चैलेंज
x

Taj Mahal Controversy : 'दम है तो ताजमहल को मंदिर बनाकर दिखा दो', भाजपा सरकार को महबूबा मुफ्ती का चैलेंज

श्रीनगर। जम्मू एवं कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को पत्र लिखकर आरोप लगाया कि सत्ताधारी पार्टी एजेंसी का इस्तेमाल राजनीतिक विरोधियों को नीचा दिखाने के लिए एक औजार के रूप में कर रही है।

पत्र में लिखा है, 'मेरी जानकारी में आया है कि प्रवर्तन निदेशालय कश्मीर से विभिन्न व्यक्तियों को बुला रहा है, शायद ईसीआईआर/16/ एचआईवी/2020 के सिलसिले में। इन व्यक्तियों को जोड़ने वाला एकमात्र सामान्य सूत्र यह प्रतीत होता है कि वे सभी मेरे परिचित हैं, मेरे परिवार या मेरी राजनीति पार्टी से जुड़े हुए हैं। इन व्यक्तियों पर सवाल उठाना मेरे, मेरे व्यक्तिगत, राजनीतिक और वित्तीय मामलों पर भी केंद्रित है।

'मेरे दिवंगत पिता के कब्र और स्मारक, मेरी बहन की संपत्ति, गृह निर्माण, मेरे भाइयों की संपत्ति और व्यक्तिगत मामलों पर सवाल किया जा रहा है। हाल ही में, पीडीपी का एक प्रमुख व्यक्ति, जिसे डीडीसी चुनावों में कश्मीर के लोगों ने जिताया है, उस वहीद पारा को एनआईए ने गिरफ्तार किया था, चुनावों की पूर्व संध्या पर, मेरे कई रिश्तेदारों और पार्टी नेताओं को जम्मू-कश्मीर प्रशासन द्वारा गैरकानूनी हिरासत में रखा गया था।'

उन्होंने पत्र में लिखा है, 'मैं आपको सूचित करना चाहती हूं कि एक जिम्मेदार नागरिक और राजनेता के रूप में, एक पूर्व मुख्यमंत्री और संसद सदस्य, और इस देश में सबसे शानदार सार्वजनिक व्यक्तित्व में से एक की बेटी, मैं किसी भी एजेंसी द्वारा किसी भी सवाल का सामना करने के लिए तैयार हूं। लेकिन मैं इस प्रक्रिया की वैधता पर जोर दूंगी।'

महबूबा ने पत्र में आगे लिखा है, "मैं आपका ध्यान इसलिए पीएमएलए, 2002 की धारा 21 (2) की ओर आकर्षित करती हूं और आपको निजता के अधिकार, लोकतांत्रिक राजनीति के अधिकार और वास्तव में उचित प्रक्रिया के अधिकार के बारे में भी सूचित करती हूं। आपको आगे ध्यान में रखना है कि यदि आप मुझसे पूछताछ करने का इरादा रखते हैं या मेरे इलेक्ट्रॉनिक या डिजिटल उपकरणों या मेरे परिवार के सदस्यों की जांच करते हैं, तो आप इसे केवल अपने या मेरे प्रतिनिधि की उपस्थिति में और निष्पक्ष/न्यायिक प्राधिकरण की देखरेख में करेंगे।"

उन्होंने पत्र में यह भी लिखा है, 'मैं कानून, अच्छे आचरण या संवैधानिकता के मानदंडों को मानती हूं, मैं इस मामले को कानूनी और राजनीतिक रूप से उठाने में संकोच नहीं करूंगी।'

Next Story

विविध