मध्य प्रदेश

शिवराज सरकार के गृहमंत्री का दावा, 'जबसे मैं गृहमंत्री बना महिला अपराधों में आई है बड़ी कमी'

Janjwar Desk
12 Jan 2021 8:15 AM GMT
शिवराज सरकार के गृहमंत्री का दावा, जबसे मैं गृहमंत्री बना महिला अपराधों में आई है बड़ी कमी
x
नरोत्तम मिश्रा ने राज्य में महिला अपराध घटने का दावा ऐसे समय में किया है जब मध्यप्रदेश के सीधी जिले में एक महिला के साथ बलात्कार व नृशंसता की आलोचना हो रही है...

जनज्वार। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दावा किया है कि जब से वे राज्य के गृहमंत्री बने हैं तब से प्रदेश में महिला अपराध में बड़ी कमी आयी है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार हिंदुस्तान की वह सरकार है जिसने इस तरह की घटनाओं में फांसी की सजा करायी और हमारी सरकार ने अबतक ऐसे 34 मामलों में सजा करवायी।

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि बड़ी संख्या में बच्चियां वापस भी आयी हैं। उन्होंने बलात्कार के मामलों के पीछे विकृत मानसिकता वालों के होने की बात कहते हुए कहा कि इसके लिए समाज का जागरण भी जरूरी है और इसलिए मुख्यमंत्री ने कल से कन्या पूजन कार्यक्रम का आयोजन किया है। मिश्रा ने कांग्रेस की आलोचना करते हुए कहा कि हम मानते हैं कि नारी का सम्मान जहां है संस्कृति का उत्थान वहां है, पता नहीं कमलनाथ क्या मानते हैं।

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कहा कि जिस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष महिला हों और उसके नेता कन्या पूजन पर तंज कसें यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि नारी से ही सारी ताकतें मिलती हैं। उन्होंने कहा कि हमें सारी ताकतें नारी से ही मिलती हैं, शक्ति चाहिहए दुर्गा जी के पास जाओ, पैसा चाहिए लक्ष्मी जी के पास जाओ, विद्या चाहिए सरस्वती जी के पास जाओ।

मिश्रा ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की आलोचना करते हुए कहा कि वे इटली में बैठकर ट्विटर पर चिंता जता रहे हैं। राहुल को ऐसे मामलों में इतनी दूर से सिर्फ मध्यप्रदेश दिखा, उन्हें राजस्थान और महाराष्ट्र नहीं दिखा। उन्होंने कहा कि वे भले ही दूर से देखें लेकिन कम से कम शऊर से तो देखें।

मध्यप्रदेश के सीधी जिले में एक अधेड़ विधवा महिला के साथ बलात्कार और उसके शरीर के अंदरूनी अंगों में रड डालने की वारदात शनिवार को सामने आयी है। महिला जीवन व मौत से जूझ रही है और राहुल गांधी ने इस पर रविवार को ट्वीट किया था। सीधी जिले के अमलिया थाना क्षेत्र की इस घटना की खबर को ट्वीट करते हुए राहुल गांधी ने लिखा एक और निर्भया कब तक सहेंगे नारी पर वार?


Next Story

विविध

Share it