मध्य प्रदेश

'प्रकृति को नजरअंदाज कर अंधाधुंध खुदाई और अनियोजित निर्माण से जोशीमठ खतरे में' प्रियंका ने दिया कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हरसंभव मदद का निर्देश

Janjwar Desk
8 Jan 2023 12:01 PM GMT
प्रकृति को नजरअंदाज कर अंधाधुंध खुदाई और अनियोजित निर्माण से जोशीमठ खतरे में प्रियंका ने दिया कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हरसंभव मदद का निर्देश
x

जोशीमठ में घरों के अंदर का यह हाल आम हो चुका है 

धंसते जोशीमठ की कई तस्वीरें शेयर करते हुए प्रियंका गांधी ने लिखा है कि "उत्तराखंड के जोशीमठ में जमीन धंसने और सैकड़ों घरों में दरार आने की खबरें बेहद चिंताजनक हैं। वहां रहने वाले लोग दहशत में हैं और मदद की गुहार लगा रहे हैं...

Joshimath Sinking : चमोली जिले के जोशीमठ में हो रहे भू-धंसाव की घटना का कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने भी संज्ञान लिया है। पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने जोशीमठ की स्थिति को चिंताजनक बताते हुए ट्वीट भी किया है। ट्वीट के माध्यम से उन्होंने जोशीमठ से आ रही तस्वीरों को भयावह बताते हुए कहा कि इन तस्वीरों से वह काफी विचलित हैं। उन्होंने प्रदेश कांग्रेस के नेताओं से मौके पर पहुंचकर लोगों को राहत पहुंचाने की अपील की है।

जोशीमठ की स्थिति पर राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा कि जोशीमठ में घरों में चौड़ी दरारें, पानी का रिसाव, जमीन का फटना और सड़कों का धंसना बेहद चिंताजनक है। हादसे में भूस्खलन से भगवती मंदिर तक ढह गया। प्रकृति के विरुद्ध जाकर पहाड़ों पर लगातार खुदाई और अनियोजित निर्माण से आज जोशीमठ के लोगों पर भयानक संकट टूट पड़ा है। इस कड़कड़ाती ठंड में इस आपदा ने लोगों से उनके आशियाने छीन लिए हैं। उन्होंने उत्तराखंड कांग्रेस से अपील की कि वह जल्द से जल्द आपदाग्रस्त लोगों के बीच पहुंचकर उनकी मदद कर उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने की भी अपील को है। उन्होंने उत्तराखंड सरकार से भी अपेक्षा की है कि वह समय पर नीतिगत निर्णय लेकर लोगों को राहत पहुंचाए।

जबकि दूसरी ओर पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं से लोगों की मदद की अपील की है। अपने फेसबुक पेज पर धंसते जोशीमठ की कई तस्वीरें शेयर करते हुए प्रियंका गांधी ने लिखा है कि "उत्तराखंड के जोशीमठ में जमीन धंसने और सैकड़ों घरों में दरार आने की खबरें बेहद चिंताजनक हैं। वहां रहने वाले लोग दहशत में हैं और मदद की गुहार लगा रहे हैं। प्रकृति को नजरअंदाज करके अंधाधुंध खुदाई और अनियोजित निर्माण कार्यों की वजह से जोशीमठ पर भयानक संकट मंडरा रहा है। राज्य सरकार से अपील है कि बिना देर किए प्रभावित इलाकों को बचाने के साथ-साथ लोगों की सुरक्षा और पुनर्वास के उपाय किए जाएं। देरी का नतीजा भयानक हो सकता है। आपदा की इस स्थिति में पूरा देश एकजुट है और हम सब जोशीमठ के निवासियों के साथ हैं। कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मेरी अपील है कि प्रभावित लोगों की यथासंभव मदद करें। भगवान बद्रीनाथ सबकी रक्षा करें।"

जयराम रमेश ने मोहित से जाना जोशीमठ का हाल

इधर जोशीमठ आपदा के मामले में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव जयराम रमेश ने राजीव गांधी पंचायत राज संगठन के प्रदेश अध्यक्ष व भारत जोड़ो यात्रा में सहयात्री मोहित उनियाल से चर्चा की। मोहित ने उनसे कहा कि वह इस मुद्दे को राष्ट्रीय स्तर पर उठाएं। उनियाल ने जोशीमठ की तबाही के पीछे बड़े हाइड्रो प्रोजेक्ट्स को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि इनसे उत्तराखंड के पहाड़ों पर संकट खड़ा हो रहा है। इन प्रोजेक्ट्स को तत्काल रोकने की मांग को लेकर कांग्रेस संगठन को बड़ा आंदोलन करना होगा। इस दौरान जयराम रमेश ने मोहित को आश्वस्त किया कि कांग्रेस संगठन भाजपा सरकार से इस समस्या के समाधान के लिए निरंतर प्रयास करेगा।

Next Story

विविध