राष्ट्रीय

Mahant Narendra Giri death : पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुआ खुलासा, कैसे हुई थी महंत नरेंद्र गिरी की मौत

Janjwar Desk
22 Sep 2021 7:48 AM GMT
पुलिस ने महंत नरेंद्र गिरी का सुसाइड नोट बरामद किया है
x

(महंत नरेंद्र गिरी ने कथित तौर पर महिला के साथ वीडियो वायरल हो जाने के डर से की आत्महत्या)

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी के शव का पोस्टमार्टम पांच डॉक्टरों की टीम ने दो घंटे तक किया था....

इलाहाबाद, जनज्वार। 2 दिन से महंत नरेंद्र गिरी (Mahant Narendra Giri death) की मौत का मामला मीडिया सनसनी बना हुआ है। सोमवार 20 सितंबर को उनकी लाश फांसी के फंदे पर लटकती हुयी मिली थी। सवाल उनकी हत्या और आत्महत्या के बीच उलझा हुआ है। उनके सुसाइड नोट (Suicide note) के बाद तमाम तरह की बातें सामने आयीं कि आखिर कौन सा ऐसा कारण था जिसके भय में उन्होंने जिंदगी के बजाय मौत का रास्ता चुना।

अब बाघंबरी मठ के महंत नरेंद्र गिरी (Mahant Narendra Giri) की पोस्टमॉर्टम (Postmortem) रिपोर्ट सामने आ चुकी है, जिसमें दम घुटने से उनकी मौत होने की पुष्टि की गयी है। हालांकि यह शुरुआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट है, अभी इस मामले में जांच की जानी बाकी है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी के शव का पोस्टमार्टम पांच डॉक्टरों की टीम ने दो घंटे तक किया था। यानी अखाड़ा परिषद अध्यक्ष नरेंद्र गिरी की शुरुआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट में प्रथम दृष्टया फांसी लगने से ही मौत की बात कही गई है, मगर गहराई से जांच के लिए महंत का बिसरा सुरक्षित रख लिया गया है।

Mahant Narendra Giri death: पढ़िये महंत नरेंद्र गिरी का पूरा सुसाइड नोट, अपने किन करीबियों को जिम्मेदार ठहरा मांगी कौन सी सजा

महंत नरेंद्र गिरी की अंतिम यात्रा में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के साथ भाजपा के कई पदाधिकारी पहुंचे हुए हैं। भाजपा शहर उत्तरी के विधायक हर्षवर्धन बाजपेयी भी अंतिम यात्रा में पहुंचे।

आज 22 सितंबर को प्रयागराज में महंत (Mahant Narendra Giri) को अंतिम विदाई देने के लिए न सिर्फ संत समाज बल्कि तमाम राजनेताओं का जनसैलाब भी उमड़ा हुआ है। अखाड़ों के साधु-संतों और अनुयायियों की भारी भीड़ को देखते हुए दुकानों और स्कूलों को बंद रखने का आदेश स्थानीय प्रशासन द्वारा जारी किया गया है।

Mahant Narendra Giri Death Case: लग्जरी लाइफ जीने का शौकीन आनंद गिरी कौन है, जानिए पूरी हिस्ट्री

गौरतलब है कि महंत नरेंद्र गिरी की मौत मामले में एसआईटी कभी उनके प्रिय शिष्यों में शुमार रहे आनंद गिरी और आद्या प्रसाद तिवारी से कई घंटे पूछताछ कर चुकी है। नरेंद्र गिरी के सुसाइड नोट से इस बात का खुलासा हुआ था कि आनंद गिरी उनका किसी महिला/लड़की के साथ अश्लील वीडियो वायरल करने वाला था। वीडियो वायरल करने से पहले ही महंत नरेंद्र गिरी ने सुसाइड कर लिया।

UP News : अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि का फंदे से लटका मिला शव,संपति के विवाद को लेकर चर्चा में था अखाड़ा परिषद

एसआईटी जांच में महंत की मौत के लिए जिम्मेदार मुख्य अभियुक्त जो कभी उनका प्रिय शिष्य रहा है, आनंद गिरी गोलमोल जवाब देता रहा। जानकारी के मुताबिक बड़े हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी आद्या प्रसाद तिवारी ने भी पुलिसिया जांच में कुछ खास जानकारी नहीं दी है। हालांकि अभी तक ये दोनों एसआईटी की हिरासत में हैं और आज 22 सितंबर की शाम चार बजे कोर्ट में दोनों आरोपियों की पेशी होनी है।

गौरतलब है कि महंत नरेंद्र गिरी ने अपने शिष्य आनंद गिरी, आद्या प्रसाद तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी को अपने सुसाइड नोट में आत्महत्या के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

Next Story

विविध

Share it