राष्ट्रीय

'जीवन बच गया है माननीय मोदीजी की कृपा से' ये कहकर आखिर जताना क्या चाहते हैं नेता, मंत्री और अधिकारी

Janjwar Desk
4 March 2022 10:24 AM GMT
russia ukraine war
x

(यूक्रेन से लोटे छात्रों के एक समूह के साथ फोटो खिंचवाते नरेंद्र मोदी)

लोग कह रहे कि अभी केंद्र सरकार का महाइवेंट होना बाकी है। चुनाव समाप्त होते ही, नरेंद्र मोदी एक ऐसा शो करेंगे जिसमें सभी भारतीय बच्चे जो वापस लौटे हैं उन्हें बुलाकर जय-जयकार लगवाई जाएगी...

Russia Ukraine War: रूस और यूक्रेन के बीच छिड़े युद्ध में अब तक दो भारतीय छात्रों (Indian Students) की मौत हो चुकी है, जबकि गोलाबारी में एक छात्र गंभीर रूप से घायल हुआ है। आज जनरल वीके सिंह ने इस बात की पुष्टि भी की है। लेकिन हमारे भारत में तमाम नेता, मिनिस्टर इस बात को किसी इवेंट की तरह बनाकर चल रहे हैं।

गौरतलब है कि यूक्रेन में फंसे लगभग 20 हजार छात्रों में से अभी कुछ ही को भारत (India) वापस लाया जा सका है। चार-चार केंद्रीय मंत्रियों को इस काम की जिम्मेदारी दी गई है। इससे पहले एक वीडयो वायरल हुआ था, जिसमें केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी यूक्रेन से राहुल गांधी और अखिलेश यादव पर निशाना साध रहे थे। पुरी ने कहा कि उनसे कहिए वह चुनाव पर ध्यान दें।

प्रधानमंत्री के जयकारे लगवाता अफसर (ANI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऑपरेशन गंगा चलाया है। जिसको वे तमाम चुनावी रैलियों में इस्तेमाल करते हुए बताते सुने जा रहे कि भारत के एक-एक बच्चे को स्वदेश लाया जाएगा। वाराणसी में कल प्रधानमंत्री ने भारत लौटे छात्रों के एक दल से मुलाकात कर फोटोशेसन भी कराया था।

मोदी का नाम आते ही चुप हो गये छात्र (ANI)

लोग कह रहे कि अभी केंद्र सरकार का महाइवेंट होना बाकी है। चुनाव समाप्त होते ही, नरेंद्र मोदी एक ऐसा शो करेंगे जिसमें सभी भारतीय बच्चे जो वापस लौटे हैं उन्हें बुलाकर जय-जयकार लगवाई जाएगी। लेकिन यहां एक सवाल यह है कि जब बच्चे यूक्रेन में फंसे हैं तो उनके वापस लाना एक देश का प्रधानमंत्री होने के नाते क्या मोदी का दायित्व नहीं था। और यदि दायित्व है उसे मोदीजी निभा रहे हैं तो उसमें कृपा अथवा गैरकृपा जैसी बातें बिल्कुल वाहियात हैं।

Next Story

विविध