Top
राष्ट्रीय

मुंबई पुलिस ने किया बड़े रैकेट का पर्दाफाश, TRP के लिए सौदेबाजी करते पकड़ा अर्णब गोस्वामी का चैनल REPUBLIC TV

Janjwar Desk
8 Oct 2020 12:09 PM GMT
मुंबई पुलिस ने किया बड़े रैकेट का पर्दाफाश, TRP के लिए सौदेबाजी करते पकड़ा अर्णब गोस्वामी का चैनल REPUBLIC TV
x
मुंबई पुलिस ने दावा किया है कि उसने बड़े रैकेट का पर्दाफाश किया है जिसमें अर्णब गोस्वामी के रिपब्लिक टीवी समेत तीन टीवी चैनल टीआरपी के लिए सौदेबाजी करते पकड़े गए......

मुंबई। मुंबई पुलिस ने एक ऐसे बड़े रैकेट का पर्दाफाश करने का दावा किया है कि जिसके तहत न्यूज चैनल पैसे देकर अपने चैनल की टीआरपी यानि टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट्स को बढ़ाने की कोशिश करते हैं। इसकी जानकारी मुंबई पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह ने गुरूवार को दी।

परमवीर सिंह के मुताबिक, पुलिस को अभी तीन चैनलों के बारे में पता चला है जो इस कथित रैकेट में शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इसमें रिपब्लिक टीवी भी शामिल है। पुलिस कमिश्नर के मुताबिक रिपब्लिक टीवी ने टीआरपी सिस्टम के साछ छेड़छाड़ की है। हालांकि रिपब्लिक टीवी की ओर से इस पर किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया नहीं आई है।

मुंबई पुलिस कमिश्नर के अनुसार दो मराठी चैनल के मालिकों को भी गिरफ़्तार किया गया है। पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ़्तार किया है। पुलिस ने उनसे 20 लाख रुपए बरामद किए हैं। बीएआरसी (Broadcast Audience Research Council) नाम की एजेंसी टीआरपी को तय करती है।

मुंबई पुलिस के अनुसार बीएआरसी ने यह काम हंसा नाम की एक एजेंसी को दिया है। हंसा एजेंसी के कुछ अधिकारियों ने किसी चैनल विशेष से पैसे लेकर उनकी टीआरपी बढ़ाने का सौदा किया था। मुंबई में क़रीब दो हज़ार बैरोमीटर लगाए गए हैं। लेकिन पुलिस का कहना है कि अगर मुंबई में ऐसा हो रहा है तो इसकी पूरी आशंका है कि देश के दूसरे इलाक़ों में भी यही खेल खेला जा रहा था।

पुलिस के मुताबिक लोगों को अपने घरों में किसी विशेष चैनल को अपने टीवी पर लगाने के लिए क़रीब 400-500 रुपए हर महीने दिए जाते थे। पुलिस कमिश्नर ने कहा कि चैनलों के ज़िम्मेदार लोगों के ख़िलाफ़ भी कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि जाँच के अनुसार जिसको भी बुलाने या पूछताछ की ज़रूरत होगी उसके हिसाब से कार्रवाई होगी चाहे वो चैनल का कितना भी बड़ा अधिकारी क्यों न हो।

पुलिस कमिश्नर ने कहा कि रिपब्लिक टीवी के मालिक और एडिटर-इन-चीफ़ अर्णब गोस्वामी को भी समन भेजा जाएगा। कमिश्नर के अनुसार संयुक्त आयुक्त लेवल के एक अफ़सर की निगरानी में इस पूरे मामले की जाँच की जा रही है।

Next Story

विविध

Share it