Top
राष्ट्रीय

किसान आंदोलन पर तोमर की अहंकार वाली बोली, जनता ने 303 सीटें हमें सुधार के लिए दी हैं, बिल नहीं लेंगे वापस

Janjwar Desk
16 Dec 2020 4:48 AM GMT
किसान आंदोलन पर तोमर की अहंकार वाली बोली, जनता ने 303 सीटें हमें सुधार के लिए दी हैं, बिल नहीं लेंगे वापस
x

Narendra Singh Tomar File Photo.

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि कृषि कानून को वापस नहीं लिया जाएगा और सरकार ने हमें 300 से अधिक सीटें सुधारों के लिए दी है सिर्फ शासन करने क लिए नहीं...

जनज्वार। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि किसान आंदोलन पर बातचीत जारी है और जनता ने लोकसभा में 303 सीटें हमें सुधारों के लिए दी है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि जनता ने 303 सीटें हमंे सिर्फ शासन के लिए बल्कि सुधारों के लिए दी है। उन्होंने नोटबंदी और जीएसटी को सुधार बताते हुए कहा कि भारत को बदलने के लिए प्रयास जारी है।

नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासन में बहुत से आर्थिक सुधार हुए। उन्होंने कहा कि लोगों ने कहा कि अब नोबंदी हुई है उल्टी गिनती शुरू हो गई है, अब जीएसटी है, उल्टी गिनती शुरू हो गई है लेकिन जनता ने 2019 में हमें 287 के स्थान पर 303 सीटें दी। उन्होंने कहा कि इसका मतलब है कि जनता नरेंद्र मोीदी को चाहती है।

नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि इसका मतलब है कि जनता चाहती है कि राजनीतिक स्वार्थ के चलते, दबाव व प्रभाव के चलते, वोट बैंक की राजनीति के कारण जो सुधार अबतक नहीं हो सके हैं वो हों।

नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि नौ दिसंबर को सरकार द्वारा किसानों को भेजे गए प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया का अभी हम इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रस्ताव पर जवाब आने के बाद फिर से हम बातचीत को तैयार हैं। उन्होंने इंटरव्यू में स्पष्ट किया कि सरकार कृषि कानूनों को वापस लेने के तैयार नहीं है। उन्होंने समस्या का हल निकलने की उम्मीद जतायी है।

कृषि मंत्री ने कहा कि किसान जिन प्रावधानों को अपने हित में नहीं मानते हैं हम उन पर बातचीत के लिए तैयार हैं, लेकिन वे क्लाउज पर बातचीत के लिए तैयार नहीं हैं। उन्होंने कहा कि सरकार बिजली बिल व पराली की समस्या को लेकर भी बातचीत के लिए तैयार है।

इस सवाल पर कि क्या किसानों को एमएसपी पर लिखित आश्वासन सरकार देगी, तोमर ने कहा - एमएसपी प्रशासनिक आदेश से लागू होता है। इसी तरह यह पूर्व में, वर्तमान में होता रहा है और भविष्य में होगा। उन्होंने कहा कि एमएसपी को लेकर कोई संदेह किसी को नहीं होना चाहिए।

Next Story

विविध

Share it