राष्ट्रीय

Pithoragarh Cloud Brust : पिथौरागढ़ के धारचूला के सोबला में बादल फटा, घाटी का पुल बहने के बाद बढ़ा खतरा

Janjwar Desk
31 July 2022 12:06 PM GMT
Pithoragarh Cloud Brust : पिथौरागढ़ के धारचूला के सोबला में बादल फटा, घाटी का पुल बहने के बाद बढ़ा खतरा
x

Pithoragarh Cloud Brust : पिथौरागढ़ के धारचूला के सोबला में बादल फटा, घाटी का पुल बहने के बाद बढ़ा खतरा

Pithoragarh Cloud Brust : बादल फटने की इस घटना के बाद अचानक आए पानी के तेज बहाव में घाटी का पुल बह गया। धौलीगंगा नदी के एक हिस्से में मलवा जमा होने से वहां झील बनने का खतरा बन रहा है...

Pithoragarh Cloud Brust : उत्तराखंड कुमाउं मंडल में भारी बारिश के कहर के बीच अब पिथौरागढ़ जिले की धारचूला तहसील के सोबला में बादल फटने की घटना सामने आई है। बादल फटने की इस घटना के बाद अचानक आए पानी के तेज बहाव में घाटी का पुल बह गया। धौलीगंगा नदी के एक हिस्से में मलवा जमा होने से वहां झील बनने का खतरा बन रहा है।

स्थानीय ग्रामीणों के मुताबिक धारचूला के सोबला झीमिर गांव के भीति नाले में बादल फटने की यह घटना शनिवार 30 जुलाई देर रात की है। नाले का बहाव बढ़ने के कारण घाटी पर बना पुल भी ध्वस्त हो गया है। भूस्खलन होने के कारण धौली गंगा में पानी जमाव होने की वजह से झील बनने का खतरा बना हुआ है। इस घटना के बाद थल-मुनस्यारी मार्ग पर हरड़िया के पास पहाड़ का एक हिस्सा टूटकर सड़क पर आ गया, जिससे रास्ता एक बार फिर बंद हो गया है। इससे पहले इसी सड़क पर आए मलवे को साफ करके प्रशासन ने सड़क को चलने लायक बनाया ही थी कि मलबा हटते ही पूरा पहाड़ टूट कर सड़क पर आ गिरा, जिसके चलते थल- मुनस्यारी मार्ग एक बार फिर से बंद हो गया है। रात होने की वजह से गनीमत रही कि पहाड़ टूटने के दौरान सड़क पर कोई वाहन नहीं था। घटना के दौरान कुछ लोग पैदल जा रहे थे जिन्होंने भागकर अपनी जान बचाई।

बादल फटने की इस घटना के बाद जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार चौहान घटना स्थल का निरीक्षण किया है। संयुक्त मजिस्ट्रेट नंदन कुमार के मुताबिक नुकसान के आकलन के लिए राजस्व विभाग की टीम को मौके पर भेजा जा चुका है। जिस जगह बादल फटने की यह घटना हुई है वह धारचूला तहसील मुख्यालय से करीब 47 किमी. की दूरी पर है। गौरतलब है कि पिथौरागढ़ जनपद में पिछले 2 दिनों से भारी बरसात हो रही है। बरसात के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त है।

Next Story

विविध