Top
राष्ट्रीय

स्टूडियो में गुंडागर्दी करने वाले अर्णब गोस्वामी के संवाददाता के साथ सड़क पर हाथापाई

Janjwar Desk
24 Sep 2020 11:44 AM GMT
स्टूडियो में गुंडागर्दी करने वाले अर्णब गोस्वामी के संवाददाता के साथ सड़क पर हाथापाई
x
पत्रकारों के बीच चाय बिस्कुट वाला पत्रकार कहे जाने के बाद झड़प शुरू हुई। यह घटना गुरुवार को 10 बजे सुबह दक्षिण मुंबई के कोलाबा गेस्ट हाउस के बाहर घटी।

जनज्वार। टीवी न्यूज चैनलों के अंदर टीवी के सेलिब्रिटी एंकरों द्वारा किए जाने वाला दंगल अब न्यूज चैनलों के रिपोर्टरों के बीच आपसी मारपीट व झड़प में तब्दील हो गई है। मुंबई में गुरुवार को दो न्यूज चैनलों के पत्रकार आपस में भीड़ गए और मामला मारपीट तक पहुंच गया। पत्रकारों ने एक दूसरे को गंदी गालियां भी दीं। इस दौरान पुलिस को बीच में हस्तक्षेप कर बचाव करना पड़ा।

मुंबई में रिपब्लिक टीवी के पत्रकार प्रदीप भंडारी की दो साथी पत्रकारों से भिड़ंत हो गई और बात मारपीट तक पहुंच गई। प्रदीप भंडारी ने ट्वीट कर आरोप लगाया है कि कि एनडीटीवी एवं एबीवीपी के पत्रकारों ने उनके साथ मारपीट की है। प्रदीप भंडारी ने एनडीटीवी के रिपोर्टर सौरभ गुप्ता पर मारपीट करने का आरोप लगाया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पत्रकारों के बीच चाय बिस्कुट वाला पत्रकार कहे जाने के बाद झड़प शुरू हुई। यह घटना गुरुवार को 10 बजे सुबह दक्षिण मुंबई के कोलाबा गेस्ट हाउस के बाहर घटी। इस गेस्ट हाउस में एनसीबी की टीम कैंप कर रही है जो सुशांत सिंह मौत मामले में बाॅलीवुड ड्रग नेटवर्क की जांच कर रही है और इस कारण भारतीय टीवी मीडिया में इसे ही लगातार देश की सबसे बड़ी खबर के रूप में दिखाया जा रहा है।

वहीं, इस मामले में घटनास्थल पर मौजूद पुलिस व अन्य के बयानों के अनुसार, झड़प तब शुरू हुई जब रिपब्लिक टीवी के पत्रकार प्रदीप भंडारी ने अन्य पत्रकारों को चाय बिस्कुट खाने वाला गरीब पत्रकार कहा। पुलिस का यह भी कहना है कि उन्होंने डिप्रेशन वाले पत्रकार जैसे शब्द का भी प्रयोग किया। प्रदीप भंडारी दिल्ली बेस्ड पत्रकार हैं लेकिन इन दिनों एनसीबी जांच की खबर को कवर करने के लिए मुंबई में हैं। प्रदीप भंडारी पर मुंबई के लोकल पत्रकारों को अन्य अपशब्द कहने के भी आरोप लगे हैं।


वहीं, एनडीटीवी के पत्रकार सौरभ गुप्ता पर उन्हें गालियां देने व हाथापाई करने का आरोप लगा है। सौरभ गुप्ता व प्रदीप भंडारी ट्विटर के माध्यम से एक दूसरे पर हमले कर रहे हैं और आरोप भी लगा रहे हैं। भंडारी ने यह भी कहा है कि हमें किस टाइप की पत्रकारिता करनी है इसे कोई और ऐसे कैसे तय कर सकता है।


दिलचस्प बात यह कि इस मामले में टीवी पत्रकारों के अलावा दूसरे लोग भी कूद गए हैं और दोनों खेमों की ओर से मोर्चा ले रहे हैं। एनडीटीवी के एंकर संकेत उपाध्याय ने कहा है कि प्रदीप भंडारी को ट्वीट कर कहा है कि सौरभ गुप्ता हर फ्रेम में मामले को सुलझाते दिख रहे हैं और आप जिसके दम पर झूठ का सहारा ले रहे हैं, ये जरूर जान लीजिए कि वीवीआइपी राजाजी के लिए आप महज सिंगल यूज प्लास्टिक हैं। यूज एंड थ्रो। ज्यादा लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा प्रमाण के लिए।


इस पर पर प्रदीप भंडारी ने संकेत को जवाब देते हुए लिखा है कि मैं मधुकर उपाध्याय का बेटा नहीं हूं और नेपोटिज्म के जरिए पत्रकारिता में आया हूं। मालूम हो कि संकेत उपाध्याय मशहूर पत्रकार मधुकर उपाध्याय के बेटे हैं।



Next Story

विविध

Share it