Top
आंदोलन

बेरोजगारों ने सरकार को उसी की भाषा में दिया जवाब, 5 सितंबर को 5 बजकर 5 मिनट पर बजायी ताली-थाली

Janjwar Desk
5 Sep 2020 12:44 PM GMT
बेरोजगारों ने सरकार को उसी की भाषा में दिया जवाब, 5 सितंबर को 5 बजकर 5 मिनट पर बजायी ताली-थाली
x
माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर इस समय '5 बजे 5 मिनिट' ट्रेंड कर रहा है, यूजर्स इस हैशटैग के साथ अपने वीडियो पोस्ट कर रहे हैं, साथ ही कई विपक्षी राजनीतिक दलों के नेता इन युवाओं का समर्थन कर रहे हैं.....

नई दिल्ली। देश के युवा बेरोजगारों ने सरकार को उसी की भाषा में जवाब देना शुरू कर दिया है। देशभर के अलग अलग हिस्सों में बेरोजगारों ने पांच सितंबर को पांच बजकर पांच मिनट पर ताली और थाली बजाकर रोजगार की मांग की है। बता दें कि देश में युवाओं की बेरोजगारी इस समय सबसे बड़ा मुद्दा है लेकिन मुख्यधारा के मीडिया में इसको इतनी जगह नहीं मिल पा रही है। वहीं अब युवाओं ने सरकार तक अपनी आवाज पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया है।

माइक्रोब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर इस समय '5 बजे 5 मिनिट' ट्रेंड कर रहा है। यूजर्स इस हैशटैग के साथ अपने वीडियो पोस्ट कर रहे हैं। इसी हैशटैग पर कई विपक्षी राजनीतिक दलों के नेता भी वीडियो डालकर बेरोजगारी का मुद्दा उठा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने वीडियो ट्वीट करते हुए युवाओं का समर्थन किया और लिखा, सरकार जवाब दो, पंचवर्षीय योजना के समान भर्तियां क्यों हैं, प्रधानमंत्री जी दो जवाब, युवाओं के भविष्य से क्यों हो रहा खिलवाड़।


उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से लिखा, रोजगार दो, वरना गद्दी छोड़ दो।


समाजवादी पार्टी के नेता ब्रजेश यादव ने अपने ट्वीट में लिखा, लखनऊ विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र संघ उपाध्यक्ष होने के नाते यूनिवर्सिटी के छात्रों को निजीकरण और विकराल बेरोजगारी के विरोध में 5 बजे 5 मिनट मुहिम में समर्थन मांगा था। बालकनी में थाली बजाकर इस मुहिम का समर्थन किया। छात्रा एकता जिंदाबाद।





















Next Story

विविध

Share it