राष्ट्रीय

Unemployment : राहुल गांधी ने पीएम पर कसा तंज, कहा - सवाल पूछो तो राजा को गुस्सा आता है, रोजगार देना इनके बस की नहीं

Janjwar Desk
28 July 2022 9:14 AM GMT
Unemployment : राहुल गांधी ने पीएम पर कसा तंज, कहा - सवाल पूछो तो राजा को गुस्सा आता है, रोजगार देना इनके बस की नहीं
x

Unemployment : राहुल गांधी ने पीएम पर कसा तंज, कहा - सवाल पूछो तो राजा को गुस्सा आता है, रोजगार देना इनके बस की नहीं

Unemployment : सच तो ये है कि रोजगार देना इनके बस की बात नहीं। बेरोजगार युवा देश के भविष्य हैं जबकि भाजपा उन्हें देनदारी दिखा रही है।

Unemployment : ईडी ( ED ) की पूछताछ को लेकर पिछले कुछ समय से केंद्र सरकार ( Modi government ) और कांग्रेस ( Congress ) के बीच जारी तनातनी के बीच राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) ने एक बार फिर मोदी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने बेरोजगारी ( Unemployment ) के मुद्दे पर केंद्र को तंजिया लहजे में कहा है कि मोदी सरकार ने 8 सालों में युवाओं को रोजगार ( Employment ) के नाम पर कुछ नहीं दिया और जब सवाल पूछा जाता है तो सरकार को गुस्सा आता है। गुस्सा आने से तो काम नहीं चलेगा। मोदी सरकार या तो युवाओं को रोजगार दे या सच को स्वीकार करे।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ताजा ट्वीट में कहा कि 22 करोड़ युवा 8 सालों में सरकारी नौकरियों के लिए कतार में लगे, पर नौकरी मिली सिर्फ 7.22 लाख को मिली। नी 1000 में से सिर्फ 3 युवाओं को नौकरी मिली। ऐसे स्थिति में अगर बेरोजगारी ( Unemployment ) पर सवाल पूछो तो राजा को गुस्सा आता है। सच तो ये है कि रोजगार देना इनके बस की बात नहीं। बेरोजगार युवा देश के भविष्य हैं। जबकि भाजपा उन्हें देनदारी दिखा रही है।

राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) कहते हैं कि लोकसभा में सरकार द्वारा मुहैया कराए गए आंकड़ों के मुताबिक मई 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सत्ता संभालने से लेकर अब तक अलग-अलग सरकारी विभागों में कुल 7 लाख 22 हजार 311 आवेदकों को सरकारी नौकरी दी गई है। सरकार द्वारा दिए आंकड़ों के मुताबिक सबसे कम नौकरी 2018.19 में महज 38,100 लोगों को ही मिली, जबकि उस साल सबसे ज्यादा यानी 5 करोड़ 9 लाख 36 हजार 479 लोगों ने आवेदन किया था। 2019-20 में पिछले साल के मुकाबले अधिक यानी 1,47,096 युवा सरकारी नौकरी हासिल करने में सफल रहे।

केंद्रीय एजेंसियों में 30 लाख पद खाली

देश के अलग-अलग राज्य सरकारों को छोड़ भी दिया जाये तो अकेले केंद्र सरकार में ही लगभग 30 लाख सरकारी पद खाली पड़े हैं। इससे लेकर कई बार कांग्रेस पार्टी आवाज उठा चुकी है। 2019 में हुए आम चुनावों में भी पार्टी द्वारा इस मुद्दे को गंभीरता से उठाया गया था।

हर साल 2 करोड़ नौकरी का क्या हुआ

राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) का कहना है कि लोकसभा चुनाव 2014 में देश में हुए आम चुनावों में भाजपा ने हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था। समय बीतने के साथ भाजपा के ये वादे छलावा साबित हुए। 2014 के बाद बेरोजगारी ( Unemployment ) से जुड़े आंकड़ों ने सत्तारूण भाजपा के दावों की कलई खोलकर रख दी।

16 जून 2022 को पीएम नरेंद्र मोदी ने अगले डेढ़ साल में 10 लाख नौकरियां देने का ऐलान किया है। पीएम ने ट्वीट कर सभी विभागों और मंत्रालयों में अगले डेढ़ साल के दौरान 10 लाख लोगों की भर्ती करने का निर्देश दिए हैं। यहां पर भी मेरा सवाल वहीं है कि उनके और उनकी पार्टी द्वारा दो करोड़ रोजगार देने के वादे का क्या हुआ? इस पर पीएम ने अभी तक कुछ नहीं बोला।

बेरोजगारी दर लगातार 7 फीसदी से ज्यादा

Unemployment : अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन के डेटाबेस पर आधारित सेंटर फॉर इकनॉमिक डाटा एंड एनालिसिस की एक रिपोर्ट के मुताबिक 2020 में भारत की बेरोजगारी दर बढ़ कर 7.11 प्रतिशत हो गई थी। मुंबई स्थित सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी के आंकड़ों के अनुसार तब से देश में बेरोजगारी दर 7 प्रतिशत से ऊपर ही बनी हुई है।

Next Story

विविध