Top
उत्तर प्रदेश

अब UP के भदोही में नाबालिग दलित लड़की की सिर कुचलकर निर्मम हत्या, दुष्कर्म की आशंका

Janjwar Desk
1 Oct 2020 4:05 PM GMT
अब UP के भदोही में नाबालिग दलित लड़की की सिर कुचलकर निर्मम हत्या, दुष्कर्म की आशंका
x

बच्ची का चेहरा इतनी बुरी तरह कुचला गया है कि देखकर कंपकंपी आ जाये

एक 14 वर्षीय दलित नाबालिग लड़की की खेत में सिर कूचकर की गई निर्मम तरीके से हत्या की घटना ने सभी को झकझोर कर रख देने के साथ ही प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं...

संतोष देव गिरि की रिपोर्ट

जनज्वार। उत्तर प्रदेश के हाथरस में बेटी के साथ हुए जघन्य अपराध का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा था कि गुरुवार 1 अक्टूबर को संत रविदास नगर (भदोही) जिले में घटित एक 14 वर्षीय दलित नाबालिग लड़की की खेत में सिर कूचकर की गई निर्मम तरीके से हत्या की घटना ने सभी को झकझोर कर रख देने के साथ ही प्रदेश की कानून व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े कर दिए हैं।

संत रविदास नगर (भदोही) जिले के गोपीगंज थाना क्षेत्र के तिवारीपुर गांव के बाजरे की खेत में खून से लथपथ 14 वर्षीय किशोरी अचेत अवस्था में पाई गई। परिजन उसे निजी अस्पताल गोपीगंज ले गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद पूरे इलाके में सनसनी मच गई है।

परिजनों के अनुसार किशोरी दिन में 12 बजे घर से लगभग डेढ़ सौ मीटर दूर सड़क की ओर गई थी। जहां दुष्कर्म के इरादे से उसे बाजरे की खेत की ओर खींच ले जाया गया। किशोरी के विरोध करने पर उसे मारपीट कर लहूलुहान कर दिया गया। किशोरी के घर न लौटने पर परिवार के लोग देखने गये तो वह खेत में अचेत अवस्था में लहूलुहान पड़ी थी। आनन-फानन में उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

परिवार के लोग दुष्कर्म के प्रयास में हत्या का आरोप लगा रहे हैं। घटना की जानकारी पर पीआरबी पुलिस के साथ प्रभारी निरीक्षक गोपीगंज कृष्णानंद राय पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए हैं।

पुलिस की फोरेंसिक टीम भी गांव पहुंच कर खेत की घेरेबंदी कर जांच पड़ताल कर रही है। किशोरी की मौत से गांव में आक्रोश व्याप्त है। बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर जुटे हुए हैं। लोग हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। एसपी राम बदन सिंह ने भी घटनास्थल का जायजा लिया। जल्द ही मामले के खुलासे का भरोसा दिलाया है।

घटनास्थल पर जुटे आलाधिकारी घटना की जानकारी होते ही मौके पर विंध्याचल मंडल के आईजी पीयूष श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक आरके वर्मा, पुलिस क्षेत्राधिकारी भूषण वर्मा, प्रभारी निरीक्षक कृष्णानंद राय सहित भारी पुलिस बल मौके पर मौजूद रही। बहरहाल, पूरे क्षेत्र में घटना को लेकर सनसनी फैल गई है। घटना की सूचना पाते ही भदोही जिले के आला अधिकारी तत्परता के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर स्कार्ड कुत्ते के सहयोग से छानबीन करने में लगे हुई है कई थाने की फोर्स लगी हुई है समाचार लिखे जाने तक अभी कोई स्पष्ट खुलासा नहीं हो पाया है।

गांव में होती रहीं चर्चाएं

घटना को लेकर गांव में तरह-तरह की चर्चाएं होती रही। वही पुलिस अधीक्षक राम बदन सिंह ने कहा कि किशोरी के साथ दुराचार हुआ है अथवा नहीं यह तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ही पता चलेगा। बहरहाल अपराधियों की खोजबीन कड़ाई के साथ की जा रही है। किसी भी दोषी व्यक्ति को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

इस मामले में पुलिस ने प्रेस रिलीज जारी कर बताया कि किशोरी की हत्या हुई है, लेकिन वह किन परिस्थितियों में और क्यों हुई इसकी स्पष्ट जानकारी नहीं दे सकी। पुलिस के अनुसार गोपीगंज अन्तर्गत ग्राम तिवारीपुर चक राजाराम ग्राम सभा बरजीकला में कुमारी आंचल पुत्री मुकेश हरिजन उम्र करीब 14 वर्ष सुबह घर से शौच के लिए अपने घर से निकलकर खेत में गयी थी, जिसको उसके घर से करीब 150 मीटर की दूरी पर अज्ञात व्यक्तियों द्वारा ईंट पत्थर से मारकर हत्या कर दी गई है।

घटना की जानकारी होते ही पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया। पुलिस अधीक्षक ने घटनास्थल का मुआयना किया और बताया कि 14 वर्षीय लड़की की हत्या के पीछे रेप भी हो सकता है लेकिन जब तक पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट सामने नही आ जाती तब तक पूरी तस्वीर साफ नही हो पाएगी।

पत्रकार बृजेश मिश्रा ने ट्वीट करते हुए कहा, "भदोही के एक अत्यंत ह्रदय विदारक वारदात हुई है। 14 बरस की एक दलित बच्ची की बहुत बेरहमी से हत्या कर दी गयी। परिजनों ने रेप की भी आशंका व्यक्त की है। बच्ची का सिर किसी पत्थर से कुचला गया है। चेहरा बहुत बुरी तरह कुचल दिया गया है। पुलिस कह रही है की वो सभी पहलुओं पर जाँच कर रही है।"

बता दें कि उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र के एक गांव में 14 सितंबर को 19 साल की एक दलित लड़की के साथ कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म की वारदात हुई थी। बीते सोमवार को पीड़िता की दिल्ली के अस्पताल में मंगलवार को मौत हो गई। गैंगरेप पीड़ित की मंगलवार को दिल्‍ली के एक अस्‍पताल में मौत हो गई थी और पुलिस ने रात में ही उसका अंतिम कर दिया। पीड़ित का परिवार भी अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सका। इसके बाद देशभर में लोगों के बीच आक्रोश पैदा हो गया। इस घटना के बाद तमाम दलों के नेता व कार्यकर्ता पीड़िता के परिवार प्रति संवेदना व्यक्त की।

Next Story

विविध

Share it