Top
उत्तर प्रदेश

मुन्ना बजरंगी की हत्या करने के बाद सुनील राठी के बढ़ते दबदबे से यूपी पुलिस परेशान

Janjwar Desk
13 Aug 2020 11:28 AM GMT
मुन्ना बजरंगी की हत्या करने के बाद सुनील राठी के बढ़ते दबदबे से यूपी पुलिस परेशान
x
जेल में रहते हुए भी उसका खौफ इतना है कि बीजेपी के विधायक योगेश धामा पुलिस के आला अफसरों से मिलकर सुरक्षा की गुहार लगा चुके हैं और सुनील राठी द्वारा हत्या कराए जाने की आशंका जता चुके हैं.....

मनीष दुबे की रिपोर्ट

बागपत। दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद पश्चिमी उतर प्रदेश का बड़ा अपराधी सुनील राठी अब पश्चिमी यूपी पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुका है। पिछले कुछ दिनों में पश्चिमी यूपी के कुछ जिलों में हुई हत्या की घटनाओं में सुनील राठी का नाम सामने आ रहा है।

दरअसल 9 जुलाई 2018 को बागपत जेल के अंदर मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद से सुनील राठी का ग्राफ अपराध जगत में लगातार बढ़ता गया है। जेल में रहते हुए भी उसका खौफ इतना है कि बीजेपी के विधायक योगेश धामा पुलिस के आला अफसरों से मिलकर सुरक्षा की गुहार लगा चुके हैं और सुनील राठी द्वारा हत्या कराए जाने की आशंका जता चुके हैं। ऐसे में यूपी पुलिस बागपत में ही भाजपा नेता संजय खोखर की हत्या में भी सुनील राठी का लिंक तलाश रही है।

बता दें की पुलिस की शुरुआती तफ्तीश में संजय खोखर की हत्या पुरानी रंजिश के चलते होने की बात सामने आई है। पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार भी किया है, लेकिन पुलिस हर कदम फूंक-फूंक कर रख रही है। इस हत्याकांड में सुनील राठी के तार जुड़े होने की चर्चा है। दो महीने में दो लोगों की हत्या कराने में सुनील राठी का हाथ बताया जा रहा है। पुलिस महकमे के सूत्रों का कहना है कि पिछले दो महीने में बागपत जिले में हुई दो हाई प्रोफाइल हत्याओं में सुनील राठी का हाथ होने की पुष्टि हो चुकी है।

पिछले महीने की 7 जुलाई को बागपत में ईंट भट्टा व्यापारी देशपाल की हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने इस मामले में सुनील राठी के दो शूटरों को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा किया था। 22 जून को बागपत में ही हुई हिस्ट्रीशीटर परमवीर तुगाना की हत्या भी सुनील राठी ने ही कराई थी। 1 जुलाई को पुलिस ने गैंगेस्टर सचिन को गिरफ्तार कर इसका खुलासा किया था। पश्चिमी उतर प्रदेश की कई अनसुलझी घटनाओं में सुनील राठी पर ही शक गहरा रहा है।

पश्चिमी उतर प्रदेश में बागपत और आसपास के जिलों में हुई ऐसी घटनाएं जिसका आज तक खुलासा नहीं हुआ है, उनकी भी सुनील राठी गैंग से जोड़ कर तफ्तीश की जा रही है। हापुड़ में भाजपा नेता की हत्या का मामला हो या फिर आसपास के जिले में अन्य घटनाएं, सभी घटनाओं में सुनील राठी गैंग के एंगल पर जांच की जा रही है।

आपको बता दें कि 'जनज्वार' ने दिल्ली की अतिसुरक्षित जेलों में शुमार तिहाड़ जेल के अंदर से अपराधियों के सिंडिकेट चलने के बारे में आपको रूबरू कराया था। हमने यह भी बताया था कि यहां बन्द बड़े-बड़े अपराधी अंदर से ही हत्या, रंगदारी, जमीन कब्जा इत्यादि की वारदातों को अपने गुर्गों के जरिये अंजाम दिलवाते हैं। ये लोग जेल में ही बैठकर धड़ल्ले से फोन इत्यादि का इस्तेमाल करते हैं। तमाम जेल अधिकारियों कर्मचारियों से सेटिंग कर यह लोग हर तरह का गुनाह यहीं बैठकर करवाते हैं।

Next Story
Share it