Top
उत्तर प्रदेश

अजय लल्लू ने फिर साधा योगी सरकार पर निशाना, कहा बलात्कारियों- हत्यारों की शरण स्थली बन गया उत्तर प्रदेश

Janjwar Desk
26 Aug 2020 1:35 PM GMT
अजय लल्लू ने फिर साधा योगी सरकार पर निशाना, कहा बलात्कारियों- हत्यारों की शरण स्थली बन गया उत्तर प्रदेश
x

(फोटो : अजय कुमार लल्लू/फेसबुक)

अजय लल्लू ने कहा कि महिलाओं के साथ हो रहे रोजाना हिंसा, बलात्कार, गैंग रेप, हत्या, उत्पीड़न की घटनाएं साफ इशारा करती हैं कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं बची है और प्रदेश बलात्कारियेां का अड्डा बन चुका है....

लखनऊ। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश में बढ़ती महिला हिंसा पर गहरी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि लखीमपुर खीरी में ऑनलाइन फार्म भरने गयी छात्रा के साथ बलात्कार और जघन्य हत्या की घटना ने प्रदेश की योगी सरकार के रामराज्य की कलई खोल कर रख दी है।

प्रदेश की नाबालिग बच्चियों के साथ हो रहे गैंगरेप, हत्या और महिलाओं के साथ हो रही दरिन्दगी के खिलाफ योगी सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा कि उत्तर प्रदेश बलात्कारियों और अपराधियों का हब बन चुका है।

अजय कुमार लल्लू ने कहा कि महिलाओं के साथ हो रहे रोजाना हिंसा, बलात्कार, गैंग रेप, हत्या, उत्पीड़न की घटनाएं साफ इशारा करती हैं कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं बची है और प्रदेश बलात्कारियेां का अड्डा बन चुका है।

उन्होने कहा कि महिलाओं के साथ हो रही जघन्य हिंसा के मामले योगी सरकार में टॉप पर हैं। पिछले दिनों लखीमपुर में ही एक अबोध बच्ची के साथ दर्दनाक गैंगरेप और उसकी निर्मम हत्या हुई थी, जिसकी स्याही अभी सूख ही नहीं पायी थी कि लखीमपुर में फिर एक छात्रा के साथ हुए बलात्कार और हत्या की घटना ने प्रदेश को हिलाकर रख दिया है।

'पिछले दिनों आजमगढ़, गोरखपुर, सीतापुर और जालौन में हुई वीभत्स घटना में योगी सरकार ने पूरी तत्परता के साथ अपराधियों के साथ कार्यवाही नहीं की और उन घटनाओं से कोई सबक नहीं लिया जिसका दुष्परिणाम है कि लखीमपुर मंे एक छात्रा के साथ दर्दनाक हादसा हो गया। लगातार इस तरह की घटनाओं से यह साबित होता है कि महिलाओं को सुरक्षा देने में यह सरकार पूरी तरह विफल है।'

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना महामारी की रोकथाम में पूरी तरह विफल साबित हो रही है। यही कारण है कि इस महामारी की भयावहता को देखते हुए मा0 उच्च न्यायालय को भी संज्ञान लेना पड़ा और प्रदेश के मुख्य सचिव को आड़े हाथों लेते हुए कोरोना के रोकथाम की कार्ययोजना तलब की है।

Next Story

विविध

Share it